Rajasthan Exclusive > राजस्थान > एस एम एस अस्पताल में हो सकेंगी 9000 कोरोना की जांचें

एस एम एस अस्पताल में हो सकेंगी 9000 कोरोना की जांचें

0
149

कोरोना के बढ़ते खतरे के बीच राजस्थान के लिए एक राहत की खबर है. प्रदेश के सबसे बड़े एस एम एस अस्पताल में जल्द ही कोरोना की रोजाना 9000 जांचे हो सकेगी.

राजस्थान में पहली बार अत्याधुनिक तकनीकी की कोबास 8800 मशीन एसएमएस मेडिकल कॉलेज में पहुंच गई है.

यह भी पढे: राजस्थान के 17 जिलों में कोरोना विस्फोट, अब तक 1025 मरीजों की मौत

राजस्थान में जोधपुर और जयपुर दो जगह कोबास मशीन लगेगी जिसके तहत पहली मशीन जयपुर आ चुकी है.

एसएमएस मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ सुधीर भंडारी ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि फिलहाल कॉलेज में 5000 सैंपल की जांच होती है.

लेकिन इस मशीन के आने के बाद 4000 के लगभग जांचों में बढ़ोतरी होगी.

यह भी पढे: कोटा में भारी बारिश के चलते बैराज के गेट खुले, 16 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट

डॉ भंडारी ने दावा किया कि सभी चिकित्सक और लैब के स्टाफ की कोशिश रहेगी कि एसएमएस मेडिकल कॉलेज में रोजाना 10000 के आसपास कोरोना की जांचे की जा सके.

एस एम एस मेडिकल कॉलेज पहुंची करीब 7 करोड रुपये लागत की फुली ऑटोमेटिक कोबास 8800 मशीन में मैन पावर की जरूरत काफी कम होगी.

मशीन में एक बार में 960 सेम्पल प्रोसेस हो सकेंगे और उनका रिजल्ट 4 घंटे में आ जाएगा.

इससे स्टाफ को भी किसी तरह का संक्रमण नहीं होगा.

दिन भर में 3 से 4 हजार से टेस्ट की क्षमता में बढोतरी होगी

यह अत्याधुनिक मशीन भारत में फिलहाल कम जगहों पर लगी हुई है.

अस्पताल में लगभग एक सप्ताह में मशीन का इंस्टालेशन हो जाएगा और स्टाफ को ट्रेनिंग के बाद संभवत 15 सितंबर से जांच शुरू हो जाएगी.