Rajasthan Exclusive > राजस्थान > CRPF जवान से तांत्रिक बना युवक ने महिला से बनाए संबंध

CRPF जवान से तांत्रिक बना युवक ने महिला से बनाए संबंध

0
333
  • पति ने किया विरोध तो कर दी हत्या

  • हत्या को हादसे में बदलने का प्रयास

  • पुलिस ने 48 घंटे में किया खुलासा

जयपुर ग्रामीण पुलिस ने 48 घण्टे के दौरान ब्लाइंड मर्डर का खुलासा करते हुए तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस के खुलासे चौंकाने वाले और मानवीय संबंधों को तार तार करने वाले है।

पत्नी ने ही अवैध संबंधों के चलते प्रेमी तांत्रिक बाबा के साथ मिलकर पति की हत्या करवा दी।

और हत्या को हादसे का रूप देने का प्रयास किया गया, लेकिन कानून के आगे अपराधियों की एक नहीं चली।

जयपुर ग्रामीण एसपी डॉ. शंकरदत्त शर्मा ने बताया कि कोटपूतली थाना पुलिस ने विगत 22 अगस्त की रात्रि को राजनौता रोड स्थित दादुका मोड़ पर एक लाश बरामद की थी।

इसकी शिनाख्त लालाराम मीणा के रूप में की गई।

घटना में पुलिस को हत्या की वारदात का एक्सीडेंट का रूप देना प्रतीत हुआ तो मामले को दर्ज कर जांच के लिए टीम बनाई गई।

यह भी पढे: राजस्थान में भी शुरू होगी ईमानदार करदाताओं को सम्मान देने की पहल

पुलिस टीम ने दो दिन के समय में वारदात का खुलासा कर तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया व वारदात में उपयोग में ली गाड़ी भी जप्त कर ली।

पुलिस ने आरोपी प्रेमी सल्ला जी की ढाणी तन कैरोडी निवासी खेमसिंह उर्फ नरेन्द्र उर्फ मामन सिंह (24), तेवड़ी विराटनगर निवासी प्रहलाद बावरिया (21) व बूढला थाना तूंगा निवासी कमलेश बावरिया (19) को गिरफ्तार कर लिया।

घटना से 15 दिन पहले भी आरोपितों ने लालाराम की हत्या करने का प्रयास किया था जिसमें वे सफल नहीं हो सके थे।

पत्नी को अवैध संबंध खत्म करने की दी चेतावनी, तो करवा दी हत्या

पुलिस के मुताबिक मुख्य आरोपित खेम सिंह उर्फ नरेन्द्र सिंह उर्फ मामन राजपूत सीआरपीएफ में जवान था जिसकी ट्रेनिंग अजमेर में हो रही थी।

इसी वक्त उसका संपर्क मुस्लिम तांत्रिक से हो गया।

वह तांत्रिक के साथ मजार पर जाने लगा।

कुछ दिन बाद आरोपित में सैयद बाबा आने लगा।

इसके बाद नौकरी छोड़कर वह राजनौता में तांत्रिक का कार्य करते हुए बूझा निकालने लगा।

देखते ही देखते उसके पास सैकडों महिला-पुरुष आने लगे।

मृतक लालाराम की बहन की तबीयत खराब होने पर वह भी पत्नी के साथ तांत्रिक के पास जाने लगे।

इसी दौरान आरोपित की मृतक की पत्नी के बीच अवैध संबंध बन गए।

इसका पता चलने पर लालाराम ने पत्नी को इन सम्बन्धों को खत्म करने की चेतावनी दी।

यह भी पढे: राजस्थान में 71 हजार से ज्यादा हुए कोरोना के शिकार

आरोपित खेमसिंह को यह मंजूर नहीं था तो उसने इसे हटाने के लिए अपने साथी प्रहलाद व कमलेश बावरिया की सहायता ली।

लालाराम को फोन कर कोटपूतली बुलाया। बर्थडे होने की कहकर केशवाना स्थित अपने किराए के कमरे पर ले जाकर शराब पिलाई।

नशा हो जाने पर बानसूर रोड पर दयालपुरा गांव के पास सूनसान जगह पर ले जाकर लालाराम के सिर पर पत्थर से वार कर हत्या कर दी।

शव पिकअप में रख कर दादूका मोड़ पर लाए ओर रोड पर शव रख एक्सीडेंट का रूप देने के लिए सिर पर पिकअप चढ़ा दी और पास में उसकी स्कूटी पटक दी।

पुलिस टीम होगी पुरस्कृत

एसपी ग्रामीण डॉ. शर्मा ने इस ब्लाइंड मर्डर का खुलासा करने वाली टीम को सम्मानित करने की घोषणा की।

एसएचओ रवीन्द्र यादव को 2 हजार, एएसआई को 1 हजार व शेष सभी को 500- 500 रुपए नगद तथा एएसपी रामकुंवार कस्वां व डीएसपी दिनेश यादव को प्रशंसा पत्र दिया जाएगा।

टीम में एएसपी, डीएसपी, एसएचओ, एएसआई राकेश कुमार, कुंवर सिंह, हैड कांस्टेबल सतपाल, जमशेद, राजकुमार, रामानंद, वीरेन्द्र कुमार, कमलेश कुमार व मुखराम शामिल थे।