Rajasthan Exclusive > राजस्थान > राजस्थान में रेडियो के बाद अब टीवी से पढ़ रहे हैं सरकारी स्कूल के विद्यार्थी

राजस्थान में रेडियो के बाद अब टीवी से पढ़ रहे हैं सरकारी स्कूल के विद्यार्थी

0
229

जयपुर: कोरोना महामारी के समय लगातार जारी लॉक डाउन के कारण विद्यार्थियों की पढाई में नुकसान न हो इसी को ध्यान में रखते हुये शिक्षा विभाग द्वारा ऑनलाइन पढाई के बाद अब रेडियो एवं टीवी के माध्यम से पढाई के नवाचार अपनाए जा रहे हैं. इसके अनुकूल परिणाम भी सामने आ रहे हैं. रेडियो के शिक्षा वाणी प्रोग्राम के बाद एक जून से टीवी के माध्यम से शुरू किए गए शिक्षा दर्शन प्रोग्राम से सरकारी स्कूल के विद्यार्थी और माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से संबंधित विद्यालयों के विद्यार्थी लाभान्वित हो रहे हैं. इस कार्यक्रम के माध्यम से जयपुर जिले के लगभग 3000 से अधिक विद्यालयों के विद्यार्थी लाभान्वित हो रहे हैं.

विद्यार्थियों को निरन्तर शैक्षणिक विषयवस्तु से जोडे़ रखने एवं उन तक सहज सरल माध्यम से शिक्षण सामग्री की पहुंच सुनिश्चित करने के लिए शिक्षा विभाग द्वारा दूरदर्शन में शिक्षा दर्शन कार्यक्रम का प्रसारण शुरू किया है। इसके अन्तर्गत कक्षा 1 से 12 तक के सरकारी स्कूल के विद्यार्थी लाभान्वित हो रहे है. कक्षा 9 से 12 तक के लिए दोपहर 12.30 से 2.30 बजे तक तथा कक्षा 1 से 8 के लिए 3.00 बजे से 4.15 तक का स्लॉट निधार्रित किया गया हैं. दूरदर्शन चैनल (डी.डी.राजस्थान) पर शिक्षा दर्शन कार्यक्रम का सोमवार से शनिवार तक शिक्षा विभाग द्वारा 3 घंटे 15 मिनिट का शैक्षणिक प्रसारण किया जा रहा है इसके अन्तर्गत विद्यार्थियों को विज्ञान, गणित समेत अन्य विषयो की भी पढाई करायी जा रही है.

शिक्षा विभाग द्वारा शिक्षा दर्शन कार्यक्रम ग्रामीण क्षेत्र के उन बच्चों के लिए फायदेमंद है जिनके पास नेट की व्यवस्था नही है, वे अब सीधे दूरदर्शन के माध्यम से पढाई कर सकते हैं. गौरतलब है कि आकाशवाणी के शिक्षा वाणी कार्यक्रम के माध्यम से भी प्रतिदिन 55 मिनिट की पढाई विद्यार्थियों को करवायी जा रही है.