Rajasthan Exclusive > राजनीती > अजय माकन ने की गहलोत सरकार तारीफ

अजय माकन ने की गहलोत सरकार तारीफ

0
306

अजय माकन ने सोमवार को पी सी सी पहुंच कर कांग्रेसी नेताओं से वन टू वन बात की.

शाम को माकन ने पी सी सी में प्रेस कॉन्फ्रेंस की.

प्रदेश कांग्रेस प्रभारी माकन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में सबसे पहले पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को श्रद्धांजलि दी.

अजय माकन ने कहा कि देश प्रणब मुखर्जी के योगदान को नहीं भूल सकता.

राजस्थान दौरे को लेकर माकन ने कहा कि कार्यकर्ताओं ने गर्मजोशी से मेरा स्वागत किया.

मैं स्वागत के लिए सभी का धन्यवाद देता हूं.

मैं कल CM गहलोत, सीपी जोशी और पायलट के निवास गया था.

आज सुबह से मैंने करीब 40 नेताओं से मुलाकात की है.

यह भी पढे: अवमानना मामले में सुप्रीम कोर्ट ने प्रशांत भूषण पर 1 रुपए का जुर्माना लगाया

अजय माकन ने गहलोत मंत्रिमंडल की तारीफ करते हुए कहा कि गहलोत सरकार ने डेढ़ साल में शानदार काम किया है.

2 अक्टूबर को जनता के सामने रिपोर्ट कार्ड रखेंगे.

घोषणा पत्र के बिंदु जो पूरे हुए उनकी जानकारी देंगे. नए बिंदुओं को लेकर भी जनता के बीच जाएंगे.

अजय माकन ने कहा कि गहलोत सरकार का काम अद्वितीय है.

मंत्रिमंडल फेरबदल और राजनीतिक नियुक्ति पर माकन ने कहा कि जल्द ही सभी काम पूरे होंगे.

मन व दिमाग में तय कर लिया है कब करना है.

अभी मीडिया को कोई तारीख नहीं बता सकते है. सरकार के काम और नियुक्तियां साथ साथ चलते रहेंगे.

अजय माकन ने स्थानीय निकाय चुनाव के बारे में चर्चा की.

मंत्रियों से दो बिंदुओं पर चर्चा की. घोषणा पत्र के कितने बिंदु मंत्रियों ने पूरे किए.

माकन मंत्रियों के काम से संतुष्ट नजर आए. कहा कि हमने घोषणा पत्र के 60-70 फीसदी बिंदु पूरे किए.

अजय माकन ने मंत्रियों से महीने में एक बार प्रभार वाले जिले में संगठन की मीटिंग लेने के निर्देश दिए है.

अब हर महीने अजय माकन और डोटासरा समीक्षा करेंगे.

आज जयपुर संभाग के 6 जिलों के नेता से मिलेंगे.

यह भी पढे: लोगों को पसंद नहीं आई खिलौने पर पीएम मोदी के ‘मन की बात’

अजय माकन ने कहा कि 2 विधायकों से अकेले में बात की थी.

पहले मैं उन विधायकों से मिला नहीं था.

लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि कांग्रेस में गुटबाजी है.

दरअसल माकन ने पायलट ग्रुप के विधायकों से अकेले में बात की थी.

अजय माकन ने कहा कि अब प्रदेश कांग्रेस में गुटबाजी वाली कोई बात नहीं है.

हम इससे आगे निकल चुके हैं.

सरकार शानदार काम कर रही है.

संगठन और मजबूत कैसे किया जाए, सरकार के साथ बेहतर समन्वय कैसे हो इसे लेकर बातचीत की जा रही है.

सरकार के प्रति किसी की नाराजगी नहीं है.

हालांकि दौरे के पहले ही दिन गुटबाजी साफ नजर आयी जब पायलट समर्थक कुछ विधायकों ने माकन से अकेले में मिलने की शर्त रख दी.