Rajasthan Exclusive > राजस्थान > कोरोना को गंभीरता से लें, लापरवाही नहीं बरतें: मुख्यमंत्री

कोरोना को गंभीरता से लें, लापरवाही नहीं बरतें: मुख्यमंत्री

0
161

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot latest News) ने कहा है कि देश और प्रदेश में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और अब यह लोगों की लड़ाई बन गया हैं। कोरोना के खिलाफ लापरवाही नहीं बरतें। कोरोना को गंभीरता से लेकर इसके प्रोटोकॉल की पालना की जानी चाहिए।

गहलोत (Ashok Gehlot latest News) वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कोरोना जागरुकता संवाद कार्यक्रम में देश के प्रसिद्ध डॉक्टरों के साथ प्रदेश की जनता से सीधे रूबरू हो रहे थे। उन्होंने कहा कि (Ashok Gehlot latest News) भारत विश्व में ऐसा देश बन गया है जहां रोज एक लाख से अधिक कोरोना के मामले आने लगे हैं और आज कोरोना लोगों की लड़ाई बन गया है। इसके लिए खुद आगे आना होगा। उन्होंने कहा कि कोरोना को लेकर राज्य सजग है और हमने हर स्तर पर काम किया है और कहीं कोई कमी नहीं रखी है।

उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि (Ashok Gehlot latest News) कोरोना के खिलाफ लापरवाही नहीं बरतें। कोरोना को गंभीरता से लेकर इसके प्रोटोकॉल की पालना की जानी चाहिए। इससे बचाव ही इसका एक उपाय है। उन्होंने कहा कि चिकित्सकों ने मार्च में ही कोरोना के बारे में चेता दिया था और जिसका फायदा राजस्थान को मिला। हमने राजस्थान में स्वास्थ मित्र तैयार किए तथा निरोगी राजस्थान अभियान की शुरुआत की, जिसका कोरोना काल में फायदा मिला।

यह भी पढे: राजस्थान में कोरोना: अब तक 100 3201 लोग हुए शिकार

सीएम ने खुशी (Ashok Gehlot latest News) जताते हुए कहा कि प्रदेश की आठ हजार पंचायत इस कार्यक्रम से जुड़ी हैं और इसका सोशल मीडिया पर भी प्रसारण हुआ। चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने बताया कि इस कार्यकम के जरिए चिकित्सकों ने प्रदेश की जनता को कोरोना से बचने एवं इससे लडऩे के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि अभी इसकी कोई दवा नहीं आई है और लोगों में कोरोना के प्रति डर न हो, इसलिए यह कार्यक्रम रखा गया।

इस दौरान अधिकारियों ने चार्ट के माध्य से राजस्थान (Ashok Gehlot latest News) में कोरोना के लॉकडाउन और अनलॉक में आए मामलों में अंतर के बारे में बताते हुए प्रदेश में कोरोना से लडऩे के लिए किए गए इंतजाम की जानकारी दी। सवाई मानसिंह अस्पताल अधीक्षक सुधीर भंडारी ने बताया कि राज्य में कोरोना जांच मार्च में ही शुरू कर दी गई थी और उस समय एसएमएस की टीम द्वारा जानकारी जुटाकर कोरोना पीड़तिों का इलाज किया गया। प्रसिद्ध चिकित्सक नरेश त्रेहान, देवी शेट्टी, एस के सरीन सहित देश के कई बड़े चिकित्सकों ने लोगों को कोरोना से बचाव एवं सावधानियों के बारे में बताया।

राजस्थान में कोरोना: अब तक 100 3201 लोग हुए शिकार

राजस्थान में 793 लोग कोरोना की चपेट में आने के बाद प्रदेश में अब तक 100 3201 लोग इससे संक्रमित हो चुके है। हालांकि राहत की बात यह है कि इनमें से 84548 लोग रिकवर हो चुके हैं। और अब अस्पतालों में या होम आइसोलेशन में 17410 संक्रमित है। जिन का इलाज जारी है। सोमवार को 7 और लोगों की मौत कोरोना की वजह से हो गई है। जिसके बाद प्रदेश में कुल मौतों की संख्या 1243 हो गई है।

यह भी पढे: तालाबंदी के दौरान कितने प्रवासी मजदूरों की मौत?, सरकार ने संसद में कहा-पता नहीं

सोमवार को सुबह तक मिले नए रोगियों में सबसे ज्यादा जोधपुर में 147 और जयपुर में 145 है। इन दोनों जिलों में कोरोना संक्रमण सर्वाधिक बना हुआ है। प्रदेश के तकरीबन 35 फ़ीसदी मरीज इन दोनों जिलों से ही हैं। इसके अलावा कोटा, अजमेर, बीकानेर, अलवर ,भरतपुर, उदयपुर, पाली जिले से हैं जहां पर कोरोना का संक्रमण काफी है।

सोमवार की सुबह जयपुर और जोधपुर के मरीजों के अलावा अजमेर में 52, अलवर में 54 ,बांसवाड़ा में 22, बारां में 6, भरतपुर में 5, भीलवाड़ा में 30, बीकानेर में 32, बूंदी में 16, ,चूरू में 11, धौलपुर में 4, डूंगरपुर में 4, गंगानगर में 10, हनुमानगढ़ में 31, जैसलमेर में 2, जालौर में 6, झालावाड़ में 17, झुंझुनू में 17, कोटा में 64, नागौर में 23 ,पाली में 22, राजसमंद में 6, सवाई माधोपुर में 22, सिरोही में 7, टोंक में 6 और उदयपुर में 28 और नए रोगी सामने आए हैं।