Rajasthan Exclusive > राजस्थान > आज के माहौल में मोबाइल से ज्यादा ज़रूरी मास्क: कल्ला

आज के माहौल में मोबाइल से ज्यादा ज़रूरी मास्क: कल्ला

0
155

मास्क की आवश्यकता और गंभीरता को समझाने के लिए सरकार और चिकित्सा विभाग अलग अलग स्टार पर अपने अपने तरीके से प्रयास में लगे हैं। इसी कड़ी में जलदाय एवं ऊर्जा मंत्री तथा हनुमानगढ़ जिला प्रभारी डॉ. बी.डी. कल्ला ने मास्क को मोबाइल से भी ज्यादा जरूरी बताते हुए कहा है कि जिस तरह हम बिना मोबाइल के घर से बाहर नहीं निकलते हैं उसी तरह हमे अब मास्क के बिना तो घर से बाहर नहीं निकलना है।

डॉ.कल्ला बुधवार को हनुमानगढ़ के जिला परिषद कार्यालय में कोरोना प्रबंधन, जागरूकता एवं उपायों को लेकर आयोजित समीक्षा बैठक में बोल रहे थे। डॉ. कल्ला ने कहा कि मुख्यमंत्री ने नो मास्क, नो एंट्री की थीम पर जन आंदोलन की शुरुआत पूरे राजस्थान में की है। एक करोड़ मास्क पूरे राजस्थान में बांटे गए हैं। अब कोरोना की चैन को तोडऩे के लिए चार सप्ताह मास्क पहनना बहुत जरूरी है।

यह भी पढे: सार्वजनिक स्थलों पर मास्क नहीं लगाने पर जुर्माना देना पड़ेगा

उन्होंने सभी दुकानदारों से भी दुकान के काउंटर पर 10-20 मास्क हमेशा रखने का आह्वान किया जिससे बिना मास्क कोई ग्राहक भी आने पर पहले उसे मास्क पहनाएं, फिर दुकान में आने दें। सभी सरकारी व प्राइवेट कार्यालय भी ऐसा ही करें मास्क को लेकर हमें सभी लोगों को समझाना है। समझाने पर भी कोई मास्क नहीं लगाए तो आखिर में 200 रुपए जुर्माना लगाना है।

उन्होंने कहा कि कोरोना रोकथाम के इस जन आंदोलन में सभी लोगों को टीम स्पिरिट से कार्य करना होगा। उन्होंने बताया कि अब जिले में घर-घर जाकर नो मास्क, नो एंंट्री के स्टीकर नगरीय निकायों के जरिए लगाए जाएंगे। सभी ब्लॉक में एसडीएम, बीडीओ और तहसीदारों को भी 31 अक्टूबर तक इस अभियान को अच्छे से चलाने के निर्देश दिए गए हैं।

डॉ. कल्ला ने कहा कि जिले हनुमानगढ़ में करीब सप्ताह भर के अंदर जिला अस्पताल में कोरोना टेस्ट लैब शुरू हो जाएगी जिसमें करीब 500 टेस्ट प्रतिदिन किए जा सकेंगे।