Rajasthan Exclusive > देश - विदेश > भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर क्षेत्र में सेम ग्रस्त भूमि बनी सरदर्द, जवानों को हो रही परेशानी

भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर क्षेत्र में सेम ग्रस्त भूमि बनी सरदर्द, जवानों को हो रही परेशानी

0
151

भारत पाक अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर क्षेत्र के दर्जनों गांवों का भू-भाग सेमग्रस्त हो गया है. यहां तक कि सीमा सुरक्षा बल की कई चेक पोस्टें भी सेम की चपेट में आ गई है. रायसिंहनगर के सीमावर्ती क्षेत्र में समेजा के नजदीक जल स्तर लगातार ऊपर आ रहा है. जिससे ग्राम पंचायत 22 पीटीडी, 75 एनपी और 43 पीएस के करीब दस वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में सेम आ गई .

आबादी भूमि में मकान क्षतिग्रस्त

यहां पर जल स्तर मात्र दो से चार फीट गहरा गया है. बरसात होने पर यह इलाका दलदल में तब्दील हो जाता है, जिससे आबादी भूमि में मकान क्षतिग्रस्त हो रहे हैं, फसलों को नुकसान हो रहा है. वहीं सीमा सुरक्षा बल के जवानों को सीमा क्षेत्र की चौकसी करने में मुश्किलों का सामना करना पड़ता है.

फरीदसर चेक पोस्ट के हालात तो बद्दतर

रायसिंहनगर सीमा सुरक्षा बल की पृथ्वीसर और फरीदसर चेक पोस्ट के हालात तो बद्दतर हैं. करीब एक दशक से जलस्तर बढ़ने और इस इलाके में सेम आने के बावजूद न तो इस क्षेत्र का भूगर्भ सर्वेक्षण हुआ है तथा न ही सेम के निस्तारण के प्रयास हुए हैं. संभावना जताई जा रही है कि पाकिस्तानी क्षेत्र में सीमा के नजदीक सादकी नहर के कारण सीमावर्ती क्षेत्र का यह भू-भाग सेमग्रस्त हो रहा है.