Rajasthan Exclusive > राजस्थान > कोरोना से दिवंगत हुए राज्य कर्मचारियों के परिजनों को 50 लाख के मुआवजे की मांग

कोरोना से दिवंगत हुए राज्य कर्मचारियों के परिजनों को 50 लाख के मुआवजे की मांग

0
77

राज्य कर्मचारी संयुक्त महासंघ ने सरकार से प्रदेश में कोरोना से दिवंगत हुए राज्य कर्मचारियों के परिजनों को 50 लाख रुपए के मुआवजे की मांग की है। अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त महासंघ (एकीकृत) के प्रदेशाध्यक्ष गजेंद्र सिंह राठौड़ का कहना है कि कोरोना काल में अलग-अलग विभागों के लगभग 350 राज्य कर्मचारी कोरोना संक्रमित होने के बाद अपनी जान गवा चुके हैं।

लेकिन सरकार कोरोना की जंग में शहीद हुए उन कर्मचारियों की मौत को साधारण मौत बता कर उनके परिजनों को अनुग्रह राशि से वंचित कर रही है। जो किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं है। गौरतलब है कि राज्य सरकार ने कोविड-19 में लगे कर्मचारियों का कोरोना के कारण निधन होने पर 50 लाख रुपए की अनुग्रह राशि स्वीकृत की है।

लेकिन सरकार कर्मचारियों के डेथ सर्टिफिकेट में मौत का कारण कोरोना से नहीं बताकर हार्ट अटैक, डायबिटीज आदि से दर्शा कर मुआवजे से बचना चाह रही है। जिसके चलते मृतक कर्मचारियों के परिजनों को अनुग्रह राशि का लाभ नहीं मिल पा रहा है।

राठौड़ ने मांग की है कि विभिन्न विभागों के ऐसे सभी कर्मचारी एवं संविदा एवं निविदा, आंगनवाड़ी जनता जल योजना सहित सभी राज्य सरकार के तहत कार्य करने वाले कर्मचारी जो कोरोना संक्रमित होने के बाद अपनी जान गंवा चुके हैं उनके परिजनों को अनुग्रह राशि का शीघ्र भुगतान किया जाए।