Rajasthan Exclusive > देश - विदेश > CRPF ने बनाया नया सिक्योरिटी विंग, प्रियंका-राहुल गांधी जैसे वीआईपी की सुरक्षा की होगी जिम्मेदारी

CRPF ने बनाया नया सिक्योरिटी विंग, प्रियंका-राहुल गांधी जैसे वीआईपी की सुरक्षा की होगी जिम्मेदारी

0
166

प्रियंका गांधी, राहुल गांधी जैसे वीवीआईपी की सुरक्षा की जिम्मेदारी संभालने के महीनों बाद सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स (CRPF) ने एक नया वीआईपी सिक्यॉरिटी विंग बनाया है, जो केवल अति विशिष्ट लोगों की सुरक्षा की जिम्मेदारी संभालेगा.

विंग दिल्ली से काम करेगा और एक इंस्पेक्टर जनरल इसकी कमान संभालेंगे. सीआरपीएफ ने इसके लिए एक अलग वीआईपी सेक्टर हेडक्वॉर्टर और रेंज के साथ एक ट्रेनिंग सेंटर की मांग की है. गृह मंत्रालय ने पिछले साल नवंबर में गांधी परिवार से एसपीजी सुरक्षा वापस ले लिया था और इनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी सीआरपीएफ को सौंप दी गई थी.

शुरुआती दिनों में सीआरपीएफ और गांधी परिवार को एक दूसरे के साथ कुछ दिक्कतें आई थीं. खासतौर पर जब एक अनाधिकृत कार प्रियंका गांधी के आवास में चली गई थी. मामले ने काफी तूल पकड़ा और गृहमंत्री अमित शाह को संसद में बयान देना पड़ा.

एक और विवाद उस समय हुआ जब प्रियंका गांधी लखनऊ दौरे पर थीं और वह स्कूटी के पीछे सवारी करती दिखीं. सीआरपीएफ ने इसे नियमों का उल्लंघन बताते हुए कहा था कि वह एक सिविलियन गाड़ी पर थीं जो बुलेट प्रूफ नहीं थी.

इन घटनाओं के बाद सीआरपीएफ ने वीवीआईपी सुरक्षा के लिए अलग विंग बनाने का फैसला किया. सीआरपीएफ के डीजी ने एक लेटर में कहा, ”गृह मंत्रालय के साथ समीक्षा बैठक के अनुसरण में अलग वीआईपी सिक्यॉरिटी एचक्यूआर, वीआईपी सिक्यॉरिटी रेंज और वीआईपी सिक्यॉरिटी ट्रेनिंग सेंटर (वीएसटीसी) के लिए प्रस्ताव गृह मंत्रालय को सौंपा गया है.”

लेटर के मुताबिक गृह मंत्रालय ने सीआरपीएफ को मौजूदा मैनपावर के साथ एक अलग वीआईपी सिक्यॉरिटी विंग बनाने की सलाह दी है. सीआरपीएफ की ओर से कहा गया है, ”गृह मंत्रालय के निर्देश को ध्यान में रखकर अलग वीआईपी सिक्यॉरिटी विंग बनाने का फैसला किया गया है जिसकी अगुआई आईजी रैंक के अधिकारी करेंगे. एक डीआईजी और अन्य अधिकारी एडीजी (एचक्यूआरएस, ऑप्स) निदेशालय की निगरानी में उनकी मदद करेंगे। वीआईपी सिक्यॉरिटी विंग सीआरपीएफ निदेशालय में एडहॉक बेसिस पर आरके पुरम, नई दिल्ली में बनाया गया है.”

इससे पहले वीआईपी सिक्यॉरिटी की जिम्मेदारी आईजी इंटेलिजेंस संभाल रहे थे. सीआरपीएफ ने कहा, ”मौजूदा आईजी पदों में से एक को आईजी वीआईपी सिक्यॉरिटी विंग में बदला जाएगा.उनके पास सभी वैधानिक और वित्तीय अधिकार होंगे.