Rajasthan Exclusive > राजस्थान > नो स्कूल नो फीस की मांग को लेकर अभिभावाकों अलग-अलग संगठन हुए एकजुट

नो स्कूल नो फीस की मांग को लेकर अभिभावाकों अलग-अलग संगठन हुए एकजुट

0
279

जयपुर: कोरोना संकट में आर्थिक संकट के चलते पिछले तीन महीनों से संघर्ष कर रहे अभिभावकों के कई संगठन एकजुट हो गए हैं। संगठनों ने संयुक्त अभिभावक समिति का गठन किया है। कोरोना काम में अभिभावक संगठनों द्वारा नो स्कूल नो फीस की मांग की जा रही है। ऐसे में अब आंदोलन को गति देने और अभिभावकों को न्याय दिलवाने के लिए अभिभावक समिति केंद्र सरकार, सभी राज्य सरकार और विपक्षी दलों सहित प्रशानिक स्तर प्रमुख अधिकारियों को ज्ञापन देगी। राहत नहीं मिलने पर अभिभावक समिति हाईकोर्ट की शरण भी लेगी।

समिति के संयोजक सुशील शर्मा ने बताया कि भारतवर्षीय अभिभावक संघ, एमजीडी अभिभावक परिषद, राजस्थान अभिभावक संघर्ष समिति, राजस्थान अभिभावक आंदोलन, बाल भारती फाउंडेशन सहित विभिन्न अभिभावक संगठनों ने मिलकर सयुंक्त अभिभावक समिति का गठन किया। समिति ने शुक्रवार को कोरोना संकट के चलते अभिभावकों की समस्याओं, स्कूल संचालकों की मनमर्जी एवं सरकार के निर्णयों सहित सयुंक्त समिति के गठन पर विस्तार से चर्चा की।

अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में 20 से शुरू होगी प्रवेश प्रक्रिया

अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में प्रवेश के लिए माध्यमिक शिक्षा निदेशक ने गाइडलाइन जारी कर दी है। निदेशक सौरभ स्वामी की ओर से जारी गाइडलाइन के अनुसार अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों में प्रवेश प्रक्रिया 20 से शुरू होगी। प्रवेश के लिए 30 जुलाई तक आवेदन किए जा सकेंगे। निर्धारित संख्या से अधिक आवेदन मिलने पर 2 अगस्त को लॉटरी निकाल कर प्रवेश दिया जाएगा। स्कूल में पूर्व से अध्ययनरत आठवीं तक के विद्यार्थियों से अंग्रेजी माध्यम में पढऩे का विकल्प मांगा जाएगा। इन स्कूलों में पहली से पांचवी कक्षा तक प्रत्येक के कक्षा के लिए 30 जबकि पांचवी से आठवीं तक प्रत्येक कक्षा के लिए 35 विद्यार्थियों की संख्या निर्धारित की गई है।