Rajasthan Exclusive > राजस्थान > डॉ. सतीश पूनियां ने जोधपुर पहुंचकर पाक विस्थापितों की मृत्यु पर श्रद्धांजलि अर्पित की

डॉ. सतीश पूनियां ने जोधपुर पहुंचकर पाक विस्थापितों की मृत्यु पर श्रद्धांजलि अर्पित की

0
188
  • पाक विस्थापितों के परिजनों को भाजपा परिवार की ओर से आर्थिक अंशदान दिया

  • डॉ. पूनियां ने मुख्यमंत्री गहलोत से घटना की सत्यता की जांच कराने का आग्रह किया

जयपुर: भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डो. सतीश पूनियां ने आज जोधपुर प्रवास के दौरान शेरगढ़ उपखण्ड के ‘‘चामू’’ गांव पहुँचकर 11 पाक विस्थापितों की दुखद मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए सभी दिव्य आत्माओं को प्रदेश भाजपा परिवार की ओर से श्रद्धांजलि अर्पित की एवं प्रदेश भाजपा परिवार की ओर से आर्थिक अंशदान दिया और कहा कि आगे भी हमसे जो बन पड़ेगा हरसंभव मदद करेंगे।

उन्होंने कहा कि विगत दिनों एक ही परिवार के 11 पाक विस्थापितों की दुखद मृत्यु से मन में बहुत तकलीफ हुई, तो आज जोधपुर के शेरगढ़ उपखण्ड के ‘‘चामू’’ गांव पहुँचकर लोगों को भरोसा देने के लिए आया हूँ कि मेरा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी से भी आग्रह है कि इस घटना की सत्यता से जाँच कराएं और केंद्र सरकार को भी पत्र लिखकर इस घटना के बारे में अवगत कराएंगे।

पाक विस्थापितों की मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए डो. पूनियां ने कहा कि ये लोग बड़ी उम्मीद के साथ जीवन बसर करने के लिए यहाँ आए, कुछ लोगों को आसरा भी मिला एवं इन लोगों ने अपना जीवनयापन शुरू किया, कहीं ना कहीं इन लोगों की भी मजबूरियाँ रही होंगी जिसके कारण इनको जीवन छोड़ना पड़ा। किसी भी सभ्य समाज में कमजोर व्यक्ति को संरक्षण देना यह हमारी पहली प्राथमिकता होती है, इसलिए कोई भी समाज अपनी गलती को सुधार सकता है एवं सही दिशा दी का सकती है, जिससे भविष्य में ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति ना हो।

पाक विस्थापितों की दुखद मृत्यु पर संवेदना व्यक्त करने चामू (शेरगढ़) पहुंचे डो. पूनियां के साथ गोपालगढ़ विधायक पुखराज गर्ग, प्रदेश उपाध्यक्ष प्रसन्न मेहता, प्रदेश मंत्री के.के. विश्नोई, जोधपुर देहात दक्षिण जिलाध्यक्ष जगराम विश्नोई, जोधपुर देहात उत्तर मनोहर पालीवाल इत्यादि नेता मौजूद रहे।

यह भी पढे: मुख्यमंत्री गहलोत ने 1053 करोड़ रुपये के विकास कार्यों का शिलान्यास किया

डो. सतीश पूनियां ने जोधपुर स्थित सर्किट हाउस में पत्रकार वार्ता को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में जुगाड़ की सरकार चल रही है। इस सरकार में जनता बेहाल हो रही है, अपराध बढ़ रहे हैं, सरकार को जनता से कोई सरोकार नहीं हैं।

डो. पूनियां ने कहा कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार जुगाड़ की सरकार है, जिसके राज में अपराध तो बढ़ ही रहे हैं, जनता भी बेहाल हो रही है। जून महीने से अपराध बढ़ने के साथ ही टिड्डियों के हमले से प्रदेश के 20 जिलों में करीब 90 हजार हैक्टेयर फसल को नुकसान हुआ है, जिसकी गिरदावरी एवं मुआवजे को लेकर सरकार क्या कर रही है, इस बारे में स्पष्ट करे।

उन्होंने गत दिनों पाक विस्थापितों की मौतों को लेकर दुःख जताने के साथ कहा कि केन्द्र की मोदी सरकार पाक विस्थापितों की नागरिकता एवं उनके जीवन स्तर में सुधार करने के लिए कार्य कर रही है, जिससे उन्हें निकट भविष्य में कोई परेशानी ना आए। उन्होंने पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार के विधायकों की बाड़ाबंदी के फोटो और वीडियो वायरल हुए जो कि जनता देख चुकी है कि किस तरह फाइव स्टार के बाड़े में मंत्री एवं विधायकों ने मौज-मस्ती की, संगीत का आनंद लिया, क्रिकेट, फुटबाॅल खेला, जनता इसका समय पर जवाब देगी।

यह भी पढे: प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद पहली बार सीकर आए डोटासरा, कदम-कदम पर हुआ स्वागत

डॉ पूनियां ने कहा कि मुख्यमंत्री गहलोत की प्रशासनिक व्यवस्था लचर बनी है, जिससे कोरोना के संक्रमितों की संख्या 60 हजार से अधिक पहुँच गई है एवं 800 से अधिक मौतें हो चुकी हौं। उन्होंने कहा कि 2018 के विधानसभा चुनाव के दौरान जालोर में जनसभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने किसानों की कर्जमाफी को लेकर दस तक गिनती गिनते हुए 10 दिन में कर्जा माफ करने का वादा किया था, इस दौरान राहुल गांधी के साथ अशोक गहलोत भी मंच पर मौजूद थे, लेकिन किसानों का कर्ज आज तक माफ नहीं हुआ, ये कांग्रेस सरकार का किसानों के साथ बड़ा छलावा है।

मुख्यमंत्री गहलोत पर निशाना साधते हुए डो पूनियां ने कहा कि वे खुद के घर (कांग्रेस) में झगड़ा करते हैं और झूठे आरोप प्रधानमंत्री मोदी व गृहमंत्री अमित शाह पर लगाते हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में प्रधानमंत्री मोदी के आह्वान एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा निर्देशानुसार देश एवं प्रदेशभर में भाजपा कार्यकर्ताओं ने भोजन, पानी, राशन, मास्क, सैनेटाइजर, चरणपादुका इत्यादि का वितरण कर लगातार तीन महीने तक आमजन एवं यात्रियों की सेवा की, वहीं कोरोना काल में भी चिकित्सा व्यवस्था में भ्रष्टाचार एवं राशन वितरण में तुष्टिकरण की राजनीति करने वाली कांग्रेस सरकार को नैतिकता व लोकतंत्र की बात करने का कोई हक नहीं है।

यह भी पढे: प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में पूर्व अध्यक्ष के तौर पर लगेगी सचिन पायलट की तस्वीर

भ्रष्टाचार के मामले को लेकर कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गाँधी एवं पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी भी जमानत पर हैं। उन्होंने हार्स टे्डिंग को लेकर पूछे गये सवाल के जवाब में कहा कि मुख्यमंत्री गहलोत ने अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल कर प्रदेश के विधायकों को बकरा, बकरा मंडी बताया और खुद ने ही विधायकों की रेट तय करने वाले बयान मीडिया में दिये और राजभवन को घेरने वाला भी अमर्यादित बयान दिया, जिससे प्रदेश के सम्मान और स्वाभिमान को ठेस पहुंची। उन्होंने कहा कि कांग्रेस हा्र्स टे्डिंग के साथ-साथ अब एलिफेन्ट टे्डिंग भी करने लगी है, 2008 और 2018 में अशोक गहलोत ने बसपा विधायकों का कांग्रेस में विलय कर एलिफेन्ट ट्रेडिंग का नया आविष्कार किया है।

उन्होंने कहा कि विभिन्न सरकारों को गिराने के लिए कांग्रेस ने अनुच्छेद 356 का बहुत बार दुरूपयोग किया है और देश पर 1975 में इमरजेंसी थोपकर हमारे आपके बड़े-बुजुर्गों एवं पूर्वजों को जेल में यातनाएं दी गई थीं।

डो. पूनियां के साथ प्रेसवार्ता में प्रदेश उपाध्यक्ष प्रसन्न मेहता, प्रदेश मंत्री के.के. विश्नोई, जोधपुर शहर जिलाध्यक्ष देवेन्द्र जोशी, जोधपुर देहात दक्षिण जिलाध्यक्ष जगराम विश्नोई, जोधपुर देहात उत्तर मनोहर पालीवाल, पूर्व विधायक बाबूसिंह राठौड़, कैलाश भंसाली, पूर्व जिलाध्यक्ष नरेन्द्र कछावा इत्यादि नेता मौजूद रहे।