Rajasthan Exclusive > राजस्थान > डूंगरपुर जिले के NH 8 पर हिंसा मामले में 55 उपद्रवियों गिरफ्तार

डूंगरपुर जिले के NH 8 पर हिंसा मामले में 55 उपद्रवियों गिरफ्तार

0
65

डूंगरपुर जिले में एनएच 8 पर उपद्रव के बाद अब स्थिति सामान्य होने लगी है. इस मामले में पुलिस ने अब तक 35 एफआईआर दर्ज की है, जिसमें करीब 3 हजार लोगों के खिलाफ उपद्रव फैलाने का केस दर्ज किया है. अब तक 55 उपद्रवियों को भी गिरफ्तार कर लिया गया है. अन्य उपद्रवियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीमें दबिश दे रही हैं.

डूंगरपुर जिला पुलिस अधीक्षक ने बताया कि नेशनल हाइवे 8 पर मोतली मोड़, भुवाली, शिशोद में स्थितियां सामान्य हो चुकी है और पुलिस की ओर से लगातार गश्त जारी है. हाइवे पर यातायात सामान्य रूप से चालू है. उन्होंने बताया कि एनएच 8 पर उपद्रव के मामले में अब तक ज़िले के बिछीवाड़ा व सदर थाने में अलग-अलग 35 मुकदमे दर्ज किए गए है, जिसमें 3 हजार से ज्यादा लोगो के खिलाफ हाइवे जाम करने, पथराव, लूटपाट, आगजनी, सरकारी संपत्ति को नुकसान पंहुचाने, पुलिस के साथ मारपीट के केस दर्ज किए गए हैं.

यह भी पढे: ब्यावर को नया जिला बनाने की मांग को लेकर विधायक संकर सिंह रावत CM से मिले

एसपी ने बताया कि उपद्रव मामले को लेकर अब पुलिस की ओर से अलग-अलग टीमें गठित की गई हैं जो दबिश में जुटी हैं और अन्य उपद्रवियों को गिरफ्तार करने के प्रयास किये जा रहे हैं. वहीं लूटपाट के माल की बरामदगी के भी प्रयास किए जा रहे हैं.

भाजपा विधायक मदन दिलावर ने डूंगरपुर उपद्रव प्रकरण में सरकार पर संवेदनहीनता का आरोप लगाया

उधर डूंगरपुर उपद्रव प्रकरण को लेकर राजनीतिक बयानबाजी भी तेज हो गई हैं. विधायक मदन दिलावर को प्रदेश भाजपा की ओर से इस पूरे मामले की रिपोर्ट तैयार करने और जायजा लेने के लिए डूंगरपुर भेजा गया था. दिलावर ने खेरवाड़ा डूंगरपुर सहित उपद्रव प्रभावित इलाकों का जायजा लेकर आज उदयपुर सर्किट हाउस में पत्रकारों से बातचीत की.

पत्रकारों से बातचीत में दिलावर ने पूरे मामले में नक्सली ताकतों के हाथ होने का संकेत दिया. दिलावर ने कहा कि इस मामले में पुलिस और प्रशासन उपद्रवियों के सामने पूरी तरह लाचार दिखी. उन्होंने मामले के प्रति सरकार की संवेदनहीनता को भी स्थिति के लिए जिम्मेदार ठहराया. साथ ही उन्होंने इस अंचल के आदिवासी समाज के दो पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों को भी उपद्रवियों की मदद करने का दोषी ठहराया.