Rajasthan Exclusive > देश - विदेश > कोरोना से ग्रसित कांगो में अब इबोला से दहशत, 4 लोगों की मौत

कोरोना से ग्रसित कांगो में अब इबोला से दहशत, 4 लोगों की मौत

0
247

एक तरफ जहां पूरी दुनिया कोरोना वायरस महामारी की चपेट में है तो वहीं दूसरी तरफ इबोला वायरस का कहर फिर से टूट पड़ा है. खबरों के मुताबिक, इबोला वायरस के डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो में छह नए मामले सामने आए हैं जिसकी पुष्टी स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ-साथ विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने भी की है. कांगो के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि वांगटा में अब तक छह इबोला मामलों का पता चला है, जिनमें से चार की मौत हो चुकी है और दो जीवित हैं और देखभाल के अधीन हैं.

डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक टेड्रोस ने कहा कि कांगो के स्वास्थ्य मंत्रालय ने इबोला वायरस के नए मामलों की जानकारी दी है. उन्होंने बताया कि जिस शहर में इबोला वायरस के मामले मिले हैं, वहां कोरोना वायरस का अब तक कोई मामला सामने नहीं आया है. हालांकि पूरे कांगो में कोरोना वायरस के 3,000 के करीब मामले सामने आ चुके हैं. टेड्रोस ने बताया कि कोरोना और इबोला का आपस में कोई संबंध नहीं है. हालांकि दोनों के लक्षणों में समानता है.

हालांकि कांगो ने अभी तक अपने पूर्वी इलाके में इबोला के आधिकारिक अंत की घोषणा नहीं की है. यहां अगस्त 2018 में महामारी शुरू होने के बाद से कम से कम 2,243 लोगों की मौत हो चुकी है. 1976 में देश में वायरस का पता चलने के बाद यह कांगो में इबोला का ये 11वां प्रकोप है. कांगो के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. एटन लोंगोंडो के अनुसार 18 मई को पीड़ितों की मृत्यु हो गई लेकिन इबोला की पुष्टि करने वाले परीक्षण के परिणाम सप्ताह के अंत में आए.

 

मालूम हो कि कोरोना पहले से ही कांगो के 25 प्रांतों में से 7 में फैल चुका है. इस दौरान 3,000 से अधिक पॉजिटिव मामले सामने आए हैं जिसमें से 72 लोगों की मौत हुई हैं. हालांकि, कई अफ्रीकी देशों की तरह, कांगो ने बेहद सीमित टेस्ट किया है.