Rajasthan Exclusive > देश - विदेश > इस्लामाबाद में बनेगा पहला हिंदू मंदिर, पाकिस्तान सरकार देगी 10 करोड़ रुपये

इस्लामाबाद में बनेगा पहला हिंदू मंदिर, पाकिस्तान सरकार देगी 10 करोड़ रुपये

0
206

पाकिस्तान ने राजधानी इस्लामाबाद में पहले हिंदू मंदिर के निर्माण की प्रक्रिया शुरू कर दी है. इस पर 10 करोड़ रुपये का खर्च आएगा जिसे इमरान सरकार अदा करेगी. कृष्ण मंदिर राजधानी के एच-9 इलाके में 20,000 वर्ग फुट के प्लॉट पर बनाया जाएगा. मानवाधिकारों पर संसदीय सचिव लाल चंद माल्ही ने मंगलवार को मंदिर का शिलान्यास किया. इस्लामाबाद हिंदू पंचायत ने मंदिर का नाम श्री कृष्ण मंदिर रखा है.

इस दौरान मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए माल्‍ही ने बताया कि वर्ष 1947 से पहले इस्‍लामाबाद और उससे सटे हुए इलाकों में कई हिंदू मंदिर थे. इसमें सैदपुर गांव और रावल झील के पास स्थित मंदिर शामिल है. हालांकि उन्‍हें उनके हाल पर छोड़ दिया गया और कभी इस्‍तेमाल नहीं किया गया. उन्‍होंने इस बात पर भी दुख जताया कि इस्‍लामाबाद में अल्‍पसंख्‍यकों के अंतिम संस्‍कार के लिए जगह बहुत कम है.

इस मौके पर माल्ही ने कहा कि इस्लामाबाद और आसपास के इलाकों में 1947 से पहले के मंदिरों के कई ढांचे हैं, लेकिन उन्हें छोड़ दिया गया है और इस्तेमाल नहीं किया जाता है. डॉन न्यूज़ ने माल्ही के हवाले से कहा है कि बीते दो दशक में इस्लामाबाद में हिंदू आबादी खासी बढ़ी है इसलिए मंदिर की जरूरत है. उन्होंने इस्लामाबाद में अल्पसंख्यक समुदाय के लिए शवदाह गृह की कमी की भी बात कही.

खबर के मुताबिक, धार्मिक मामलों के मंत्री पीर नूर-उल-हक कादरी ने कहा कि सरकार मंदिर के निर्माण का खर्च उठाएगी जिसपर फिलहाल अनुमानित तौर पर 10 करोड़ रुपये का खर्च आएगा. खबर में मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी के हवाले से कहा गया है कि कादरी ने मंदिर के लिए विशेष अनुदान का मामला प्रधानमंत्री इमरान खान के सामने रखा है. राजधानी विकास प्राधिकरण (सीडीए) ने हिंदू पंचायत को मंदिर के लिए 2017 में ज़मीन दी थी. लेकिन कुछ औपचारिकताएं पूरी करने के कारण मंदिर के निर्माण में देरी हुई.