Rajasthan Exclusive > राजस्थान > गजेंद्र शेखावत बोले नवंबर तक 18 से बड़ी उम्र के सभी लोगों को डोज लग जाएगी

गजेंद्र शेखावत बोले नवंबर तक 18 से बड़ी उम्र के सभी लोगों को डोज लग जाएगी

0
113

राजस्थान में चल रही ‘वैक्सीनेशन पॉलिटिक्स’ में केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने भी एंट्री ले ली है। शेखावत ने सोमवार को वर्चुअल प्रेस वार्ता में कहा कि राजस्थान में वेक्सीन की बर्बादी का खेल खेला गया। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने डोजेज खराब होने के आंकड़ों को गलत बताया था, मगर 17 जिलों में 5 फीसदी से 40 फीसदी डोज बर्बाद हुई है जो मुख्यमंत्री के बयान की कलई खोलते हैं।
शेखावत ने कहा कि अब तक राज्यों को 23 करोड़ से ज्यादा वैक्सीन दी जा चुकी है। जल्द ही वैक्सीन का उत्पादन 30 करोड़ डोज प्रति महीना हो जाएगी और नवंबर तक 18 से बड़ी उम्र के सभी लोगों को डोज लग जाएगी। उन्होंने कहा कि वैक्सीन के निर्माण, ट्रायल और उपयोगिता को लेकर कांगेस ने राजनीति की। वैक्सीन को पार्टी और व्यक्ति से जोड़ा गया।

पूरी दुनिया भारत की वैक्सीन की स्वीकार्यता कर रही है, मगर राजस्थान में उसी वैक्सीन की बर्बादी का तांडव किया जा रहा है। मैं सीएम से पूछना चाहता हूं कि यदि कोरोना के आपदा में पीएम मोदी ने भारत मे वैक्सीन उत्पादन न किया होता तो देशवासियों को कितनी मुश्किलों का सामना करना पड़ता।

शेखावत ने कहा कि कोरोना की भयावहता को रोकने में हम कामयाब हुए हैं। केंद्र ने संसाधनों को विकसित करने के लिए चिकित्सा व्यवस्था को सशक्त करने का आग्रह किया था। अगर राजस्थान इसकी तैयारी कर लेता तो ये हालात नहीं होते। पीएम केयर्स फंड से जो वेंटिलेटर राजस्थान को भेजे गए थे। दूसरे राज्यों में इनका उपयोग किया। मगर राजस्थान में वेंटिलेटर को लेकर राजनीति की गई। केंद्र को बताया गया कि 1500 वेंटिलेटर को इंस्टॉल कर लिया गया है, जबकि यह झूठ था। मीडिया में बताया गया कि वेंटिलेटर कबाड़ में पड़े हैं।

राजस्थान सरकार के पांच साल तक चलने के सवाल शेखावत ने कहा कि मैं कोई भविष्यवक्ता नहीं हूं और ना ही इसमें विश्वास करता हूं, लेकिन सरकार पांच साल तक चली तो जनता को और ज्यादा दर्द होगा। शेखावत ने कहा कि प्रदेश में अपराध बेलगाम हो चुके हैं। महिलाओं के प्रति अत्याचार बढ़ रहे हैं। झूठे एनकाउंटर किए जा रहे हैं। लेकिन कोरोना कुप्रबंधन से ध्यान भटकाने के लिए राज्य सरकार की ओर से केंद्र सरकार पर झूठे प्रहार करने की कोशिश की जा रही है।

शेखावत ने सीएम के तीसरी लहर में बच्चों को लेकर दिए गए बयान को पेनिक फैलाने वाला बताया। उन्होंने कहा कि विश्व में कहीं भी बच्चों का वैक्सीनेशन शुरू नहीं हुआ है। सीएम ने यह डर खड़ा करने का अक्षम्य अपराध किया है।