Rajasthan Exclusive > राजस्थान > जयपुर की भारी बारिश ने साल 1959 की याद दिला दी, रेड अलर्ट जारी

जयपुर की भारी बारिश ने साल 1959 की याद दिला दी, रेड अलर्ट जारी

0
803

राजस्थान की राजधानी जयपुर में 14 अगस्त 2020 को भारी बारिश हुई। पूरे शहर में सुबह से दोपहर तक पानी का सैलाब रहा। सड़कें दरिया बनी रही। कारों, मोटरसाइकिलों समेत अन्य वाहन सड़कों पर दौड़ने की बजाय कागज की नाव की तरह तैरते रहे। जयपुर की इस बारिश ने साल 1959 की याद दिला दी, क्योंकि जयपुर शहर में बीते 60 साल में अगस्त माह में 24 घंटों के दौरान सर्वाधिक बारिश ​का​ रिकॉर्ड साल 1959 के नाम है, जो अभी तक टूटा नहीं है।

प्रदेश में मानसून पूरी तरह से सक्रिय है. अलग अलग तरह के चार सिस्टम सक्रिय होने के कारण मौसम विभाग ने आज 3 जिलों में भारी से भारी और 20 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी दी है.

मौसम विभाग ने 3 जिलों के लिये रेड अलर्ट जारी किया है. इनमें अजमेर, भीलवाड़ा और राजसमंद जिला शामिल है. रेड अलर्ट के अनुसार इन जिलों में 115 मिलीमीटर से 204 मिलीमीटर तक बारिश हो सकती है. प्रदेश के अन्य 20 जिलों के लिये ऑरेंज और 4 जिलों के लिये येलो अलर्ट जारी किया गया है.

जारी रेड अलर्ट

मौसम विभाग के मुताबिक राजस्थान में मानसून धीरे-धीरे अपने चरम पर आ रहा है. सभी फेवरेबल कंडिशन के कारण प्रदेश में अच्छी बारिश का दौर चल रहा है.

मौसम विभाग ने अलवर, बांसवाड़ा, बारां, भरतपुर, बूंदी, चित्तौडगढ़, दौसा, धौलपुर, डूंगरपुर, जयपुर, झालावाड़, झुंझुनूं, करौली, कोटा, प्रतापगढ़, सवाई माधोपुर, सीकर, सिरोही, टोंक और उदयपुर जिले में भारी बारिश की चेतावनी देते हुए इनके लिये ऑरेज अलर्ट जारी किया है.

विभाग ने आज पश्चिमी राजस्थान के 4 जिलों के लिए येलो अलर्ट भी जारी किया है. विभाग ने चूरू, नागौर, पाली और जालोर के लिये येलो अलर्ट जारी करते हुए इनमें भी कहीं कहीं भारी बारिश के आसार जताए हैं.

जयपुर में झमाझम बारिश का दौर

मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार आज राजधानी जयपुर में झमाझम बारिश का दौर शुरू हो गया है. गुरुवार रात को भी जयपुर के कई इलाकों में बारिश हुई.

उसके बाद आज सुबह से ही कई इलाकों में तेज बारिश को दौर फिर शुरू हो गया. सुबह-सुबह बारिश की बूंदों ने दिन की शुरुआत की.