Rajasthan Exclusive > राजस्थान > हनी ट्रैप गैंग का पर्दाफाश, युवति सहित 3 गिरफ्तार

हनी ट्रैप गैंग का पर्दाफाश, युवति सहित 3 गिरफ्तार

0
179
  • वीडियो वायरल करने की धमकी, पीडि़त से मांगे 20 लाख रुपए

  • वहीं चौमूं में फोटो एडिट कर ब्लेकमेल करने के मामले में युवति सहित 2 गिरफ्तार

शिवदासपुरा थाना पुलिस इलाके में हनी ट्रैप में फंसाने वाली गैंग को  गिरफ्तार कर लिया।

वहीं दूसरी ओर चौमूं थाना इलाके में महिला की फोटो एडिट कर धमकी देने के मामले में पुलिस ने एक युवती सहित दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया।

जानकारी के मुताबिक हनी टै्रप गैंग की महिला ने व्हाट्सएप पर मैसेज करके एक व्यक्ति से दोस्ती की,

कुछ दिन में ही कमरे पर बुलाकर वीडियो बना लिया और हनी ट्रैप में फंसाकर बलात्कार का झूठा केस दर्ज कराने की धमकी देकर 20 लाख रुपए की डिमांड करने लगे।

पीडि़त ने 5 लाख दे भी दिए, फिर पुलिस को बताया।

शिवदासपुरा थाना इंचार्ज इंद्रराज मरोडिया ने बताया कि

मामले में पुलिस ने आरोपी महिला के अलावा उदयपुर के रहने वाले राजेन्द्र (30), गंगापुर सीटी निवासी सोनू गुर्जर (30), बड़ागांव करौली निवासी योगेंद्र गुर्जर (24) को गिरफ्तार कर लिया।

गैंग को पकडऩे के लिए सब इंस्पेक्टर मुंशीलाल के साथ 10 पुलिसकर्मियों की टीम बनाई गई थी।

पीडि़त से व्हाट्सएप से दोस्ती

महिला ने पीडि़त से व्हाट्सएप पर दोस्ती की। फिर मिलने बुलाया और पीडि़त का 1 घंटे का वीडियो बना लिया।

इसके बाद गैंग ने रेप के केस में फंसाने की धमकी देकर पीडि़त से 20 लाख रुपए मांगने लगी।

यह भी पढे: राजस्थान: कोरोना पॉजिटिव छात्रा पहुंची परीक्षा देने

पीडि़त डर गया और आरोपियों को 5 लाख दे भी दिए।

शिवदासपुरा थाने में 31 जुलाई को इस गैंग के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई।

पुलिस ने बताया कि पैसे देखकर इस हनी ट्रैप गैंग में भी फूट पड़ गई।

पीडि़त से 5 लाख लेने के बाद आरोपी मोहसिन और आसिफ पैसे लेकर फरार हो गए।

बाकी गैंग को उन्होंने कुछ नहीं दिया।

इसके बाद आरोपियों ने पीडि़त को 1 लाख रुपए लेकर दौसा बुलाया।

पीडि़त के साथ पुलिस टीम गई थी।

पैसे देते ही आरोपियों ने बंटवारा कर लिया, तभी पुलिस ने पकड़ लिया।

महिला की फोटो एडिट कर मांगे  1 करोड़ रुपए 

धार्मिक यात्रा के दौरान परिचित महिला की खिंची गई फोटो को एडिट करने के बाद

ब्लैकमेल करके एक करोड़ रुपए मांगने वाली युवती व युवक को चौमूं थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

गिरफ्तार आरोपी गौरव गुप्ता बसंत विहार चौमूं व मृणालिनी द्विवेदी उर्फ सेजल ग्रेटर नोएडा की रहने वाली है।

यह भी पढे: सचिन पायलट ने देश की अर्थव्यवस्था बिगड़ने के लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया

मृणालिनी मॉडल बनने की तैयारी कर रही थी और वह कई बार फैशन शो में शामिल हो चुकी है।

इस दौरान कुछ माह पहले फेसबुक पर चौमूं निवासी गौरव से दोस्ती हो गई थी।

गौरव के कहने पर पैसे के लालच में आकर इस साजिश में शामिल हो गई और पीडि़त महिला को सोशल मीडिया और फोन कॉल पर परेशान करने लगी।

एसीपी राजेन्द्र निर्वाण ने बताया कि इस संबंध में 28 अगस्त को पीडि़त महिला ने रिपोर्ट दर्ज करवाई कि तीन साल वह अपने परिवार और गौरव के परिवार के साथ उज्जैन गए थे।

जहां पर गौरव ने अपने मोबाइल उन लोगों के फोटो खिंच लिए थे।

उसके कुछ समय बाद आरोपी ने फोटो को एडिट करके सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी देकर ब्लैकमेल करने लगा।

आरोपी फोटो को वायरल करने धमकी देकर बार-बार पैसे मांग रहा था।

इस  पर पीडि़ता ने 60-70 हजार रुपए दे दिए थे।

अब कुछ समय पहले सेजल नाम की लड़की बार-बार उन्हीं फोटो को वायरल करने की धमकी देकर एक करोड़ रुपए मांग रही है।

रिपोर्ट दर्ज होने के बाद पुलिस ने गौरव को बुलाकर पूछताछ शुरु की तो सामने आया कि उसने फोटो एडिट करके पैसे मांगे थे,

लेकिन पीडि़ता ने नहीं दिए तो उसने फेसबुक पर दोस्त बनी युवती को कर्जे की पीड़ा बताई और खुद को पैसे का लालच देकर उससे ब्लैकमेल करवाया।

युवती ने पीडि़ता महिला को फोन पर गाली-गलौच करके दबाव बना दिया।

पैसे लेने का लालच देकर युवती को बुलाया जयपुर

नोएडा की युवती की बात सामने आने पर पुलिस ने आरोपी से युवती को फोन करवाया कि महिला ने 55 लाख रुपए दे दिए है।

इसलिए आप जयपुर आकर अपना हिस्सा ले जाओं।

इसलिए युवती पैसे के लालच में सोमवार देर शाम को जयपुर पहुंच गई।

यह भी पढे: कार्यकर्ताओं में पकड़ करेंगे मजबूत, समर्थकों को भी सक्रिय करेंगे पायलट

पुलिस ने दबिश देकर उसे भी पकड़ लिया।

पकड़ी युवती से पूछताछ में सामने आया कि उसके पिता सेना में अफसर है और मां के साथ नोएडा में रहती है।

पुलिस जांच में ये भी सामने आया कि आरोपी कोई काम धंधा नहीं करता इसलिए करीब 15 लाख रुपए का कर्जा हो गया।

इसलिए धनाढ्य परिवार की महिला को ब्लैकमेल करने की योजना बनाई।

पुलिस अन्य वारदातों के संबंध में जांच कर रही है।