Rajasthan Exclusive > राजस्थान > बिजली दरों में बढ़ोतरी से पड़ी है आम जनता को मार: सतीश पूनिया

बिजली दरों में बढ़ोतरी से पड़ी है आम जनता को मार: सतीश पूनिया

0
214

शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी का राज्य सरकार के खिलाफ हल्ला बोल कार्यक्रम अध्यक्ष सतीश पूनिया के फेसबुक लाइव के संबोधन के साथ शुरू हुआ.

राज्य भर में तमाम नेताओं और पदाधिकारियों ने फेसबुक लाइव के माध्यम से राज्य सरकार पर हमला बोला.

प्रदेश अध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया ने बढ़ी बिजली दरों, कोरोना कु-प्रबंधन, किसान कर्जमाफी, बेराजगारी भर्ती, लम्बित भर्तियाँ, बढ़ते अपराध, टिड्डी हमले से फसलों को हुए नुकसान सहित विभिन्न मुद्दों को लेकर मुख्यमंत्री गहलोत एवं राज्य सरकार पर निशाना साधा.डॉ. पूनियां ने सत्यवादी वीर तेजाजी महाराज की दशमी, बाबा रामदेव जयंती की व खेजड़ली बलिदान दिवस पर सभी को याद किया.

पूनिया ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि में दिल्ली में जिस तरीके का विग्रह खड़ा हुआ और उनकी पार्टी के लोगों ने गैर गाँधी कांग्रेस अध्यक्ष बनाने की कोशिश की, जो कांग्रेस पार्टी खुद के भीतर लोकतंत्र की बात करती थी आज पूरी दुनिया ने उसके सच को जाना है. राजस्थान में टुकड़ों, गुटों में बँटी हुई कांग्रेस, टूटी हुई और विग्रह की शिकार कांग्रेस देश का, राजस्थान का कैसे भला कर पायेगी.

यह भी पढे: नई पेंशन योजना और राष्ट्रीय शिक्षा नीति को लेकर राष्ट्रव्यापी आन्दोलन का ऐलान

कोरोना मामले पर सरकार को घेरते हुए पूनिया ने कहा कि 75 हजार से भी ज्यादा संख्या कोरोना संक्रमण के मामले और एक हजार से ज्यादा मौतें प्रदेश में हो चुकी हैं अब उसमें भी मंत्री जी की, सरकार की कलाकारी देखिये, 300 से अधिक मौतों का रिकॉर्ड नहीं है.

इस कोरोना ने सरकार के प्रबंधन की पोल खोल दी, जिस तरीके से स्क्रीनिंग में, सैम्पलिंग में, टेस्टिंग में कु-प्रबंधन हुआ और लगातार प्रदेश में वेंटिलेटर्स की और आईसीयू बेड्स की कमी होती जा रही है. सरकार सिर्फ आँकड़ों का खेल खेल रही है. लेकिन कोरोना के मामले में मुख्यमंत्री निवास भी अछूता नहीं, स्वास्थ्य विभाग का महकमा अछूता नहीं, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी अछूते नहीं हैं.

डॉ. पूनियां ने कहा कि बिजली इस समय प्रदेश का बड़ा मुद्दा है और बिजली के मुद्दे पर इस सरकार ने अपने जन घोषणा पत्र में कहा था कि हम बिजली के मामले में राजस्थान को आत्मनिर्भर बनायेंगे. आत्मनिर्भर कितना बनाया आप सब जानते हैं.

यह भी पढे: जयपुर फिर से लॉकडॉउन के रास्ते पर

किसानों को मिलने वाला 833 रुपए का अनुदान भी सरकार ने बंद कर दिया है. लेकिन उपभोक्ताओं पर जो मार पड़ी है पिछले दिनों फरवरी में जो फिक्स चार्ज थे उसमें 1 करोड़ 13 लाख उपभोक्ताओं पर 12 प्रतिशत की बढ़ोतरी की और 70 पैसे प्रति यूनिट बिजली की दरों में बढ़ोतरी हुई.

सतीश पूनिया ने आज हुए कांग्रेस के आंदोलन को लेकर कहा कि अच्छा है कि कांग्रेस को आंदोलनों की आदत पड़ जाए. थोड़े दिन बाद उन्हें आंदोलन ही करने पड़ेंगे. पेट्रोल डीजल की दरों में हुई बढ़ोतरी के सवाल पर उन्होंने कहा कि डीजल पेट्रोल की रेट राजस्थान में इसलिए ज्यादा है कि यहां पर राज्य सरकार द्वारा लगाया गया वेट बहुत ज्यादा है.