Rajasthan Exclusive > देश - विदेश > चीन से युद्ध नहीं बल्कि भारत को मौके का उठाना चाहिए फायदा: RSS

चीन से युद्ध नहीं बल्कि भारत को मौके का उठाना चाहिए फायदा: RSS

0
286

लद्दाख के गलवान घाटी में भारत और चीनी सैनिकों के बीच होने वाली खूनी झड़प के बाद जहां एक तरफ पूरे देश में चीन को लेकर गुस्से का माहौल देखने को मिल रहा है. लोग चीनी उत्पादों का बहिष्कार कर चीन को सबक सिखाने की मांग कर रहे हैं. इस बीच मामले को लेकर सियासत भी तेज हो गई है. इस बीच एरएसएस ने केंद्र सरकार से अपील की है कि वह कोरोना की वजह से चीन के प्रति पैदा हुए विरोध की भावना का फायदा उठाकर उसे अलग-थलग करने की कोशिश करे.

गलवान घाटी में दोनों सेना के बीच होने वाली हिंसक झड़प में 20 सैनिकों के शहादत को लेकर आरएसएस बहुत ही सधे हुए अंदाज में जवाब दे रही है. संघ प्रमुख मोहन भागवत ने इसका विरोध किया था. वहीं संघ सहसरकार्यवाह भैयाजी जोशी ने कहा कि इस संकट के समय में भारत के लोग और सेनाएं मजबूती से सरकार के साथ खड़ी हैं.

आरएसएस के मुखपत्र ‘द ऑर्गनाइजर’ के संपादक प्रफुल्ल केतकर इस मामले को एक अलग नजरिए से देख रहे हैं. उनका कहना है कि दुनियाभर में कोरोना वायरस महामारी के बाद चीन के प्रति लोगों में विरोधी भावना पैदा हो गई है. भारत को इस मौके का फायदा उठना चाहिए. उन्होंने कहा कि चीन से युद्ध से ज्यादा जरूरी है उसे दूसरे मोर्चों पर सीमित किया जाए. इस बयान के बाद उन्होंने साफ किया कि वह आरएसएस के कार्यकर्ता के तौर पर नहीं बोल रहे हैं.

गौरतलब है कि चीन के इस कायराना हरकत के खिलाफ पूरे देश में गुस्से का माहौल देखने को मिल रहा है. चीनी उत्पादों का बहिष्कार कर लोग चीन की आर्थिक कमर तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं. इसबीच आरएसएस ने भी सरकार को सलाह दिया है कि वह मौके का फायदा उठाकर चीन को उसी के रणनीतिक अंदाज में जवाब दे.