Rajasthan Exclusive > राजस्थान > जयपुर में महामारी अध्यादेश के उल्लंघन के मामले में अब तक ड़ेढ़ करोड़ से अधिक का जुर्माना वसूला

जयपुर में महामारी अध्यादेश के उल्लंघन के मामले में अब तक ड़ेढ़ करोड़ से अधिक का जुर्माना वसूला

0
155

राजधानी जयपुर में महामारी अध्यादेश 2020 का उल्लंघन करने पर अब तक एक लाख 22 हजार से अधिक मामलों में कार्रवाई करते हुए ड़ेढ़ करोड़ रुपए से अधिक का जुर्माना वसूला गया, वहीं लॉकडाउन उल्लंघन पर इसी दौरान 19 हजार वाहन जब्त करते हुए दो करोड़ से अधिक रूपये का जुर्माना वसूला गया।

पुलिस आयुक्तालय से प्राप्त सूचना के अनुसार जयपुर शहर में लॉकडाउन 5.0 के दौरान राजस्थान महामारी अध्यादेश का उल्लघंन करने वालो के खिलाफ एक लाख 22 हजार 688 मामलों में कार्रवाई करते हुए एक करोड़, 57 लाख 67 हजार 400 रुपए जुर्माना वसूल किया गया है।

यह भी पढे: आज के माहौल में मोबाइल से ज्यादा ज़रूरी मास्क: कल्ला

राजस्थान महामारी अध्यादेश के अन्तर्गत सार्वजनिक स्थान एवं कार्यस्थल पर फेस मास्क नहीं पहनने पर अब तक 27 हजार 708 व्यक्तियों के विरूद्ध कार्यवाही की गयी तथा 55 लाख 41 हजार 600 रुपए का जुर्माना वसूला गया।

इसी प्रकार सार्वजनिक स्थान पर लोगों की ओर से थूकने पर अब तक 79 व्यक्तियों के विरूद्ध कार्यवाही की गई तथा 15 हजार 800 रुपए का जुर्माना वसूला गया, जबकि सार्वजनिक स्थान पर लोगों की ओर से शराब का सेवन करने पर अब तक 72 व्यक्तियों के विरुद्ध कार्रवाई की गई एवं 36 हजार रुपए का जुर्माना वसूला गया।

पान, गुटखा, तम्बाकू विक्रय करते पाए जाने पर अब तक 17 व्यक्तियों के खिलाफ कार्रवाई की गई तथा 16 हजार रुपए का जुर्माना वसूला गया एवं सार्वजनिक स्थान पर न्यूनतम छह फीट की सामाजिक दूरी बनाकर नहीं रखने पर अब तक 93 हजार 120 व्यक्तियों पर कार्रवाई की जाकर 93 लाख 12 हजार रुपए का जुर्माना वसूला गया।

यह भी पढे: सार्वजनिक स्थलों पर मास्क नहीं लगाने पर जुर्माना देना पड़ेगा

पुलिस के अनुसार जयपुर शहर में अनावश्यक एवं बिना कारण आवाजाही करने वालों के विरुद्ध लॉकडाउन का उल्लंघन करते हुए पाए जाने पर बुधवार को 10 वाहन जब्त किए गए। शहर में लॉकडाउन पर अब तक 19130 दुपहिया एवं चैपहिया वाहन जब्त किए तथा दो करोड़ 18 लाख 58 हजार 450 रुपए का जुर्माना वसूला गया है। इस तरह करीब एक लाख 22 हजार मामलों में कार्रवाई करते हुए डेढ़ करोड़ से अधिक का जुर्माना वसूला गया।