Rajasthan Exclusive > राजस्थान > जयपुर: इस बार जन्माष्टमी का त्योहार दो दिन मनाया जाएगा

जयपुर: इस बार जन्माष्टमी का त्योहार दो दिन मनाया जाएगा

0
424
  • जयपुर के गोविंददेव जी मंदिर में 12 को मनेगा कृष्ण जन्मोत्सव

  • दोनों दिन ही रोहिणी नक्षत्र नहीं रहेगा

  • अष्टमी तिथि 11अगस्त को सुबह 9 बजकर 07 मिनट पर शुरू होगी

जयपुर: श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार दो दिन मनाया जाएगा।

स्मार्त जहां भाद्रपद कृष्ण सप्तमीयुक्त अष्टमी पर 11 अगस्त को जन्माष्टमी मनाएंगे, वहीं वैष्णवजन भाद्रपद कृष्ण अष्टमीयुक्त नवमीं पर 12 अगस्त को जन्माष्टमी पर्व मनाएंगे।

हालांकि इस बार दोनों दिन ही कृष्ण जन्म जैसे संयोग नहीं रहेंगे। दोनों दिन ही रोहिणी नक्षत्र नहीं रहेगा।

ज्योतिषाचार्यों ने बताया कि,अष्टमी तिथि 11अगस्त को सुबह 9 बजकर 07 मिनट पर शुरू होगी, जो 12 अगस्त को सुबह 11 बजकर 17 मिनट तक रहेगी। रोहिणी नक्षत्र 13 अगस्त को तड़के 3 बजकर 26 मिनट पर शुरू होगा।

गोविंददेवजी मंदिर में 12 को मनेगी जन्माष्टमी

जयपुर शहर के आराध्य गोविंददेवजी मंदिर में इस बार 12 अगस्त को साधारण रूप से श्रीकृष्ण जन्मोत्सव मनाया जाएगा।

इस दिन सुबह मंगला झांकी के बाद ठाकुरजी का पंचामृत अभिषेक होगा और बाद में नवीन पीत वस्त्र धारण करवाए जाएंगे।

फूलों से विशेष श्रंगार किया जाएगा। मध्यरात्रि में जन्माभिषेक होगा।

हालांकि दर्शनार्थियों के लिए पट बंद रहेंगे,लोग ऑनलाइन ही गोविंददेवजी के दर्शन कर सकेंगे।

वहीं इस बार श्रीकृष्ण की शोभायात्रा भी नहीं निकाली जाएगी।

मंदिर प्रवक्ता मानस गोस्वामी ने बताया कि मध्यरात्रि 12 बजे 31 तोपों की सलामी होगी।

इससे पहले रात 10 से 11 बजे तक श्रीकृष्ण जन्माष्टमी व्रत कथा पाठ होंगे।

मध्यरात्रि 12 बजे गोविंद अभिषेक दर्शन खुलेंगे।

अभिषेक में 31 लीटर दूध, 21 किलो दही, 2 किलो घी, 10 किलो बूरा, 2 किलो शहद अर्पण किया जाएगा।

इस दौरान ठाकुरजी को पंजीरी लड्डू, सागारी लड्डू, सीरसा व रबडी का भोग लगाया जाएगा।

वहीं 13 अगस्त को नंदोत्सव मनाया जाएगा।

जन्माष्टमी पर ये रहेगा झांकियों का समय

झांकी समय
मंगला आरती तड़के 3.45 से 4.30 बजे तक
धूप आरती सुबह 7.30 से 9.30 बजे तक
श्रंगार आरती सुबह 9.45 से 11.30 बजे तक
राजभोग आरती सुबह 11.45 से दोपहर 1.30 बजे तक
ग्वाल आरती शाम 4 से 6.30 बजे तक
संध्या आरती 6.45 से रात 8.30 बजे तक
शयन आरती रात 9.15 से 10.30 बजे तक
मंगला आरती रात 11 से 11.15 बजे तक