Rajasthan Exclusive > राजनीती > जोधपुर जिले में सर्वाधिक 6 सरपंच निर्विरोध चुने गए, 5388 उम्मीदवार बचे मैदान में

जोधपुर जिले में सर्वाधिक 6 सरपंच निर्विरोध चुने गए, 5388 उम्मीदवार बचे मैदान में

0
89

प्रदेश में पंचायत चुनाव (Jodhpur Election Latest News) के पहले चरण में नामांकन वापसी की तारीख निकलने के बाद अब 1002 सीटों पर कुल 5388 उम्मीदवार मैदान में बचे हैं। यानी हर सीट पर औसतन 5 उम्मीदवारों के बीच सरपंची की जंग होगी।

छह जिलों की 13 ग्राम पंचायतें ऐसी हैं, जहां सरपंच का पर्चा दाखिल करने वाले उम्मीदवारों के सामने कोई चुनौती नहीं बची। इन सीटों पर निर्विरोध सरपंच निर्वाचित हुए हैं। इन ग्राम पंचायतों में सर्वाधिक छह ग्राम पंचायतें मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के गृह जिले जोधपुर की हैं। इसी तरह 4468 वार्ड पंच भी निर्विरोध चुने गए हैं। (Jodhpur Election Latest News)

यह भी पढे: हेल्पलाइन नंबर 181 पर आधे घंटे में कोरोना संक्रमितों को मिलेगी चिकित्सकीय सुविधा

લ पहले चरण के लिए 19 सितंबर को हुई नामांकन प्रक्रिया में 9042 उम्मीदवारों ने नामांकन दाखिल किए थे। छंटनी के बाद इनमें से 8875 वैध नामांकन मिले। नाम वापसी की प्रकिया में इनमें से 3474 ने अपने नामांकन वापस ले लिए।

नाम वापसी के बाद अंतिम तौर पर अब दौसा जिले की महुआ पंचायत समिति की 42 सीटों पर सर्वाधिक 426 उम्मीदवार मैदान में है, जबकि जोधपुर की चामू और सेखला पंचायत समितियों की एक एक—एक ग्राम पंचायत में हो रहे चुनाव में सबसे कम सिर्फ 2—2 प्रत्याशियों के बीच आमने—सामने का मुकाबला है। (Jodhpur Election Latest News)

जिन 13 स्थानों पर निर्विरोध निर्वाचन हुआ है, उनमें बाड़मेर की 3 ग्राम पंचायतें, जोधपुर की छह, धौलपुर की एक, श्रीगंगानगर की एक, जैसलमेर की एक और हनुमानगढ़ की एक ग्राम पंचायत शामिल है।

चुनाव आयुक्त पी.एस.मेहरा ने बताया कि 9688 वार्ड पंच के चुनाव के लिए भी अब 11890 उम्मीदवार मैदान में बचे हैं। इस चुनाव के लिए 4571 प्रत्याशियों ने अपने नाम वापस ले लिए हैं। (Jodhpur Election Latest News)

यहां निर्विरोध चुने गए सरपंच (Jodhpur Election Latest News)

जिन 13 स्थानों पर निर्विरोध निर्वाचन हुआ है, उनमें बाड़मेर के सेढवा की 3 ग्राम पंचायतें, जोधपुर में मंडोर पंचायत समिति की 2 तथा लोहावट, बावरी, डेचू और केरू पंचायत समितियों की एक—एक ग्राम पंचायत शामिल है। इसी प्रकार धौलपुर में बाड़ी पंचायत समिति की एक, श्रीगंगानगर में अनूपगढ़ की एक, जैसलमेर में भनियाना की एक और हनुमानगढ़ में संगरिया की एक ग्राम पंचायत में भी निर्विरोध सरपंच चुना गया है। (Jodhpur Election Latest News)

वार्ड पंच के 4571 प्रत्याशी भी बैठे (Jodhpur Election Latest News)

चुनाव आयुक्त पी.एस.मेहरा ने बताया कि 9688 वार्ड पंच के चुनाव के लिए भी अब 11890 उम्मीदवार मैदान में बचे हैं। इस चुनाव के लिए 4571 प्रत्याशियों ने अपने नाम वापस ले लिए हैं। (Jodhpur Election Latest News)

यह भी पढे: कृषि अध्यादेशों के खिलाफ 10 अक्टूबर तक कांग्रेस का हल्ला बोल

कृषि अध्यादेशों के खिलाफ 10 अक्टूबर तक कांग्रेस का हल्ला बोल

विपक्ष ने कृषि से जुड़े तीन बिलों को लेकर आर पार की लड़ाई शुरू कर दी है। कांग्रेस ने कृषि अध्यादेशों के खिलाफ देश भर में जनआंदोलन की घोषणा की है। हालांकि ये कृषि अध्यादेश संसद की दोनों सदनों में पारित हो गए हैं।

इन बिलों का विरोध करने और कृषि से जुड़े वर्गों की सहानुभूति बंटोरने के लिए कांग्रेस ने एक पखवाड़े के कार्यक्रम तय करते हुए सभी राज्य ईकाइयों को विभिन्न टास्क दिए हैं। सूत्रों के अनुसार प्रदेश प्रभारी अजय माकन 24 सितंबर को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में प्रेसवार्ता करेंगे। उनके साथ पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा भी मौजूद रहेंगे। इसके बाद 28 सितंबर को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय से लेकर राजभवन तक प्रदेश कांग्रेस का पैदल मार्च होगा।

यह भी पढे: 70 ग्राम पंचायतों में चुनाव के लिए आज से नामांकन पत्र भरने शुरू

पैदल मार्च के बाद राज्यपाल को ज्ञापन दिया जाएगा। वहीं 2 अक्टूबर को प्रदेश कांग्रेस किसान मजदूर दिवस मनाएगी। इसी दिन विधानसभा क्षेत्रों और जिला मुख्यालयों पर कृषि विधेयकों के खिलाफ धरने प्रदर्शन भी होंगे। 10 अक्टूबर को जयपुर सहित अन्य जिला मुख्यालयों पर कांग्रेस किसान सम्मेलन आयोजित करेगी। गौरतलब है कि सोमवार को भी कृषि विधेयकों के खिलाफ कांग्रेस ने प्रदर्शन कर जिला कलेक्टर्स को ज्ञापन सौंपे थे।

Jodhpur Election Latest News

Jodhpur Election Latest News

 

कृषि अध्यादेशों को लेकर एक पखवाड़े तक विरोध प्रदर्शन के निर्णय के पीछे किसान वोट बैंक की राजनीति भी मानी जा रही है। जहां तक राजस्थान की बात है वर्तमान में चल रहे ग्राम पंचायतों के साथ ही आगामी समय में पंचायत समितियों और जिला परिषदों के चुनाव भी हैं ऐसे में इन मुद्दों के जरिए कांग्रेस किसान वर्ग की सहानुभूति बंटोरकर उन्हें अपने पाले में लाना चाहती है। (Jodhpur Election Latest News)

राजस्थान की असंवेदनशील कांग्रेस सरकार के चलते किसान सड़कों पर

उन्हो नें कहां की,मैं जानना चाहता हूं कि जब मुख्यमंत्री के पास अपने विधायकों को खुश करने के लिए पैसे की कमी नहीं थी. गरीब किसान का बिजली का बिल माफ करना उनके लिए कैसे संभव नहीं है! गहलोत सरकार ने आखिर क्या सोच कर पूर्ववर्ती भाजपा सरकार द्वारा प्रतिमाह बिजली के बिल पर दिए जाने वाले अनुदान को पिछले साल बंद कर दिया था! (Jodhpur Election Latest News)

निर्वाचन क्षेत्रों में आदर्श आचार संहिता लागू  (Jodhpur Election Latest News)

राज्य सरकार ने आदेश जारी कर पंचायतीराज संस्थाओं के चार चरणों में संपन्न होने वाले आम चुनाव के कार्यक्रम की घोषणा कर दी है। इसके साथ ही राज्य के संबंधित निर्वाचन क्षेत्रों में आदर्श आचार संहिता लागू कर दी गई है।

आदेश के अनुसार राज्य के मंत्रीगण चुनाव से संबधित निर्वाचन क्षेत्र में चुनाव खत्म होने तक शासकीय दौरे पर नहीं जा सकेंगे। कानून व्यवस्था बिगड़ने या किसी आपात स्थिति में संबधित विभाग के मंत्रीगण राज्य निर्वाचन आयोग को सूचना भिजवा कर ही संबधित क्षेत्रों के दौरे पर जा सकेंगे।

यह भी पढे: भाजपा विधायक कालीचरण सराफ ने मुख्यमंत्री गहलोत पर क्षेत्रवाद का आरोप लगाते हुए जोधपुर के साथ जयपुर को भी बचाने की बात कही

आदर्श आचार संहिता के दौरान मंत्रीगण चुनाव से संबंधित निर्वाचन क्षेत्र में दौरे पर रहे तो सरकारी वाहन का प्रयोग नहीं कर सकेंगे साथ ही निजी वाहन का प्रयोग करते समय भी उस पर सायरन आदि का प्रयोग नहीं करेंगे।

राज्य के मंत्रीगण चुनाव से संबंधित निर्वाचन क्षेत्र में दौरे के दौरान चुनाव से संबंधित अधिकारियों को नहीं बुलाएंगे तथा वहां विश्राम गृह, ड़ाक बंगलों या अन्य सरकारी आवासों का या इससे संलग्न परिसरो का उपयोग प्रचार कार्यालय के रूप में या चुनाव से संबंधित कोई बैठक करने की दृष्टि से नही करेंगे। (Jodhpur Election Latest News)

आदर्श आचार संहिता की अवधि में सरकारी विश्राम गृहों, डाक बंगलों या अन्य सरकारी आवासों को निष्पक्ष तरीके से अन्य दलों या अभ्याथिर्यो को भी उपयोग करने की अनुमति दी जाएगी, लेकिन वे भी उनका चुनाव से संबंधित कार्य में इस्तेमाल नहीं करेंगे।  (Jodhpur Election Latest News)

यह भी पढे: पंचायत चुनाव 2020: निर्वाचन क्षेत्रों में आदर्श आचार संहिता लागू

निर्वाचन से जुडे़ सरकारी अधिकारियों का मंत्रियों के दौरे के समय उनके किसी स्वागत में या प्रोटोकॉल में जाना प्रतिबंधित रहेगा। गौरतलब है कि राज्य निर्वाचन आयोग ने प्रदेश भर में शेष बच रही 3848 ग्राम पंचायतों के लिए चुनाव का कार्यक्रम जारी कर दिया है। चार चरणों में होने वाले पंचायत चुनावों में 28 सितंबर, 3, 6 और 10 अक्टूबर को वोट डाले जाएंगे। (Jodhpur Election Latest News)

प्रथम चरण 1003 सरपंचों का चुनाव (Jodhpur Election Latest News)

  • 16 सितंबर को लोकसूचना
  • 19 सितंबर को प्रातः 10 से 5 बजे तक नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुत किए जा सकेंगे।
  • 20 को नाम निर्देशन पत्रों की संवीक्षा की जााएगी। इसी दिन 3 बजे तक नाम वापसी।
  • 27 सितंबर तक मतदान दल निर्वाचन स्थल पर पहुंचेंगे ।
  • 28 सितंबर सुबह 7.30 से शाम 5.30 बजे तक मतदान करवाया जाएगा।
  • मतदान समाप्ति के बाद सभी पंचायत मुख्यालयों पर मतगणना करवाई जाएगी।