Rajasthan Exclusive > राजनीती > कांग्रेस में काबिलियत की कद्र नहीं होती, पायलट ने भी यहीं झेला: सिंधिया

कांग्रेस में काबिलियत की कद्र नहीं होती, पायलट ने भी यहीं झेला: सिंधिया

0
233

ज्योतिरादित्य सिंधिया जब से कांग्रेस का दामन छोड़कर भारतीय जनता पार्टी से जुड़े हैं, तब से वह अपनी पूर्व पार्टी के खिलाफ कड़ा रुख अपनाए हुए हैं. ताजा मामले में राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा है कि कांग्रेस पार्टी में काबिल नेताओं पर सवालिया निशान खड़ा किया जाता है.

सिंधिया ने कहा कि उनके पूर्व दलीय सहयोगी सचिन पायलट ने भी हाल ही में यही स्थिति झेली है. ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा,“पायलट मेरे मित्र हैं. उन्होंने जो पीड़ा झेली है, उससे सब लोग वाकिफ हैं. कांग्रेस किस तरह इतने विलंब के बाद अपना घर दुरुस्त करने की कोशिश कर रही है, इस बात से भी सब वाकिफ हैं. यह दु:ख की बात है कि कांग्रेस में काबिलियत पर प्रश्न चिन्ह खड़ा किया जाता है. यही स्थिति मेरे पूर्व सहयोगी ने भी झेली है.”

पीएम मोदी की जमकर की सराहना

इस दौरान सिंधिया ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व की जमकर सराहना की.
उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाया गया है.
अयोध्या में राम मंदिर का शिलान्यास किया गया है. चीन को ईंट का जवाब पत्थर से दिया गया है.
बीजेपी के वरिष्ठ नेता ने कहा कि मोदी सरकार के इन अहम कदमों के बाद कांग्रेस अब पूरी तरह विफलता की राह पर जा रही है.

उधर फेसबुक विवाद पर सिंधिया ने कहा, “इंटरनेट एक स्वतंत्र माध्यम है. लेकिन जनता का विश्वास खोने वाले लोगों के पास जब कहने को कुछ नहीं होता है, तो इन मुद्दों को पकड़ा जाता है.”

विजयवग्रीय और महाजन से मिलने पहुंचे

भाजपा में शामिल होने के बाद राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया पहली बार इंदौर गए.
उन्होंने वरिष्ठ भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय व पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन के घर भी गए.
हालांकि विजयर्गीय से उनकी मुलाकाता नहीं हो पाई. उनके बेटे ने सिंधिया का स्वागत किया.
इसके अलावा इंदौर में भाजपा कार्यालय में कार्यकर्ताओं की बैठक भी की.