Rajasthan Exclusive > राजस्थान > जानें कैसे मिलेगा एडमिशन, उच्च शिक्षा में इस साल पर्सेंटाइल फार्मूला नहीं

जानें कैसे मिलेगा एडमिशन, उच्च शिक्षा में इस साल पर्सेंटाइल फार्मूला नहीं

0
171

जयपुर: 12वीं कक्षा के परिणाम के साथ ही उच्च शिक्षा में उच्च शिक्षा के लिए दाखिले की दौड़ शुरू हो चुकी है।

राजस्थान विश्वविद्यालय के संघटक कॉलेज महारानी, महाराजा, कॉमर्स और राजस्थान कॉलेज में अब दाखिलों की दौड़ तेज हो गई है।

प्रदेश के विद्यार्थियों में प्रतिष्ठित यूजी कॉलेजों में दाखिला पाने की होड़ मची हुई है लेकिन आवेदनों के साथ ही इस बार राजस्थान बोर्ड से पास हुए विद्यार्थी प्रवेश को लेकर आशंकित हैं, जिसका कारण है पर्र्सेंटाइल फार्मूला।

कोरोना काल को देखते हुए इस साल उच्च शिक्षा में प्रवेश को लेकर पर्सेंटाइल फार्मूला एक साल के लिए हटाया गया है.

जिसके बाद राजस्थान बोर्ड के विद्यार्थियों की चिंता बढ़ गई है.

क्योंकि पिछले कुछ सालों की बात की जाए तो पर्र्सेंटाइल फार्मूले के चलते राजस्थान बोर्ड के विद्यार्थियों का प्रवेश में फायदा मिलता था लेकिन अब पर्र्सेंटाइल फार्मूला हटाने के बाद अब प्रतिशत की मेरिट के आधार पर प्रवेश होंगे, जिससे सीबीएसई के विद्यार्थियों का फायदा मिलने की संभावना है।

12वीं के परिणाम आने के बाद प्रवेश की दौड़ शुरू हो चुकी है।

29 जुलाई से प्रथम वर्ष में प्रवेश की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है और अब तक करीब 22 हजार से ज्यादा आवेदन प्राप्त हो चुके हैं।

सर्वाधिक आवेदन राजस्थान यूनिवर्सिटी के राजस्थान कॉलेज में बीए पास कोर्स के मिले हैं।

ग्रेजुएशन फर्स्ट ईयर में बीए, बीकॉम, बीएससी में पास और ऑनर्स के अतिरिक्त सर्टिफिकेट, डिप्लोमा, बीसीए, बीबीए, बीवीए, बीपीए में भी एडमिशन की प्रक्रिया जारी है।

इस बार आवेदन से लेकर कट ऑफ माक्र्स तक भी ऑनलाइन जारी होंगे।

कोरोना के कारण राज्य सरकार पर्र्सेंटाइल फार्मूला के बजाय पर्सेंटेज को ही आधार मानकर एडमिशन के निर्देश दिए हैं लेकिन इन सब के बीच दाखिले को लेकर राजस्थान बोर्ड के स्टूडेंट्स बेहद आशंकित हैं क्योंकि पिछले 6 सालों में पर्सेंटाइल फॉर्मूला के आधार पर आरबीएसई विद्यार्थियों का ही सर्वाधिक प्रवेश हुआ था।

ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया शुरू

राजस्थान विश्व विद्यालय के कुलपति जेपी यादव का कहना है कि ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया शुरू हो चुकी है. 14 अगस्त तक आवेदन की अंतिम तिथि है। पर्र्सेंटाइल के आधार पर आरबीएसई के प्रवेश ज्यादा होते थे।

ऐसे में सीबीएसई के विद्यार्थियों के कम प्रवेश की शिकायत थी लेकिन इस साल कोरोना के चलते परिस्थियां ऐसी बनी की सरकार को ऐसा फैसला लेना पड़ा।

अब जब सभी आवेदन प्राप्त हो जाएंगे तब ही पता चल सकेगा की प्रवेश को लेकर क्या स्थिति रह सकती है।

राजस्थान यूनिवर्सिटी के कॉलेजों में दाखिले के लिए 14 अगस्त और प्रदेश के बाकी सरकारी कॉलेजों में 11 अगस्त तक ऑनलाइन आवेदन किए जा रहे हैं।