Rajasthan Exclusive > देश - विदेश > मनमोहन सिंह ने PM मोदी को चेताया, अपने बयानों से चीन को ना दें मौका

मनमोहन सिंह ने PM मोदी को चेताया, अपने बयानों से चीन को ना दें मौका

0
219

पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी में भारत-चीन सैनिकों के हिंसक झड़प के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव की स्थिति बनी हुई है. इस बीच भारत में चीन को लेकर लोगों का नाराजगी बढ़ती जा रही है. चीन के हालात पर होने वाली सर्वदलीय बैठक दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान के बाद हुई किरकरी के बीच पीएमओ को सफाई देनी पड़ी थी लेकिन अब इस मामले को लेकर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने पीएम मोदी को चेताया है कि शब्दों लेकर राष्ट्र की सुरक्षा पर घोषणाओं के लिए सावधान रहना चाहिए. कूटनीति के लिए गलत जानकारी सही नहीं है.

दोनों देशों के बीच जारी तनाव के बीच पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह ने लद्दाख में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि ‘जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाना चाहिए. केंद्र को चीन की धमकियों से कमजोर नहीं पड़ना चाहिए. ऐसे वक्त में पूरे राष्ट्र को एकजुट होना चाहिए और साथ मिलकर इस दुस्साहस का मुंहतोड़ जवाब देना चाहिए.’

पूर्व प्रधानमंत्री मन मोहन सिंह ने कहा कि‘आज हम इतिहास के नाजुक मोड़ पर खड़े हैं. हमारी सरकार के निर्णय और कदम इस बात को तय करेंगे कि भविष्य की पीढ़ियां हमारा आकलन कैसे करें. जो देश का नेतृत्व कर रहे हैं उनके कंधों पर कर्तव्य का गहन दायित्व है. हमारे प्रजातंत्र में यह दायित्व प्रधानमंत्री का है.

इस मौके पर उन्होंने कर्लन संतोष बाबू जैसे अन्य शहीदों को याद करते हुए कहा कि जिन्होंने देश की सुरक्षा के लिए अपनी जान कुर्बान कर दी. ऐसा दुस्साहस करने वाले लोगों को जवाब देना चाहिए. इससे कुछ भी कम किया जाना जनादेश से ऐतिहासिक विश्वासघात होगा. गौरतलब हो कि चीन मामले को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सर्वदलीय बैठक बुलाई थी इसमें उन्होंने दावा किया था कि न तो चीन ने हमारी सीमा में घुसपैठ की है और न ही कोई पोस्ट बनाया गया है. उनके इस बयान के बाद विपक्ष हमलावर हो गया था क्योंकि मोदी का बयान सेना और विदेश मंत्रालय के बयान से बिल्कुल अलग था.