Rajasthan Exclusive > राजस्थान > हेल्पलाइन नंबर 181 पर आधे घंटे में कोरोना संक्रमितों को मिलेगी चिकित्सकीय सुविधा

हेल्पलाइन नंबर 181 पर आधे घंटे में कोरोना संक्रमितों को मिलेगी चिकित्सकीय सुविधा

0
108

चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा (Medical Minister Raghu Sharma Latest News) ने हेल्पलाइन सेवा 181 के कामकाज की समीक्षा की. इस मौके पर शर्मा ने बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की पहल पर शुरू की गई हेल्पलाइन सेवा 181 कोरोना मरीजों के लिए बड़ी राहत साबित होगी. उन्होंने कहा कि इस वॉर रूम और इससे संबंधित जिला स्तरीय वॉर रुम के जरिए अधिकतम 30 मिनट में कोरोना मरीज या उनके परिजनों की समस्त समस्याओं का समाधान किया जाएगा.

राज्य स्तरीय वॉर रुम में राज्य के सभी जिला वॉर रुम में तैनात कर्मचारियों व अधिकारियों के नामों की सूची और मोबाइल नंबर उपलब्ध रहेंगे. वहीं कोविड—19 से संबंधित सभी जांच केन्द्रों की सूचना, निजी व राजकीय कोविड डेडीकेटेड अस्पतालों की लिस्ट भी दूरभाष नंबर के साथ उपलब्ध रहेगी. (Medical Minister Raghu Sharma Latest News)

जिला स्तरीय वॉर रुम जिला कलक्टर की अध्यक्षता में जिले के प्रमुख डेडिकेटेड अस्पताल में 24 घंटे संचालित किए जाएंगे. उक्त जिला स्तरीय वॉर रुम एक प्रशासनिक अधिकारी, दो चिकित्सक और अन्य कार्मिकों के साथ तीन पारियों में संचालित किए जाएंगे. इन वॉर रुम में कोविड डेडिकेटेड सभी अस्पतालों में उपलब्ध बैड्स की रियल टाइम सूचना व एम्बूलेंस संबंधी जानकारी उपलब्ध रहेगी. (Medical Minister Raghu Sharma Latest News)

यह भी पढे: कृषि अध्यादेशों के खिलाफ 10 अक्टूबर तक कांग्रेस का हल्ला बोल

वॉर रूम की निगरानी के लिए एक दूरभाष नंबर व नेट कनेक्टिविटी के साथ कंम्प्यूटर और सीसीटीवी कैमरे भी स्थापित किए जा रहे हैं. उन्होंने बताया कि सभी वॉर रुम में कोविड डैडिकैटेड अस्पतालों में सभी प्रकार के बैड की सूचना उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं. (Medical Minister Raghu Sharma Latest News)

जिला स्तरीय वॉर रुम को जिम्मेदारी सौंपी गई है कि वे गंभीर मरीजों के लिए आईसीयू, वेंटिलेटर व अन्य चिकित्सकीय सुविधाओं को जल्द से जल्द उपलब्ध कराएं और सरकारी रैफरल परिवहन सुविधा द्वारा कोविड अस्पताल में पहुंचा कर भर्ती कराए. मरीज या उनके परिजन की समस्या का निवारण करने के बाद जिला स्तरीय वॉर रुम में तैनात कार्मिक उक्त जानकारी राज्य स्तरीय वॉर रूम में देगा और राजस्थान संपर्क पोर्टल पर भी दर्ज करेगा.

डॉ शर्मा ने अब राज्य के प्रमुख कोविड डेडिकैटेड हॉस्पिटल आरयूएचएस जयपुर में बैड्स की संख्या 500 से बढ़ाकर 900 करने के लिए निर्देश दिए है. जयपुर के मेट्रो मास अस्पताल को भी कोविड सेंटर के रुप में विकसित करने की योजना है. वहीं ईएसआई अस्पताल, रेलवे अस्पताल में भी बैड्स लिए गए है और वहां भी मरीजों को भर्ती किया जा रहा है. (Medical Minister Raghu Sharma Latest News)

यह भी पढे: मोदी सरकार ने स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू किया: गुलाबचंद कटारिया

राज्य में कोरोना संक्रमितों की रिकवरी रेट 83 फीसदी को पार कर गई है जबकि मृत्यु दर 1.16 फीसदी है. यह दर्शाता है कि राजस्थान सरकार कोरोना महामारी से आमजन को बचाने के लिए लगातार अपनी सेवाओं को मजबूत कर रही है.

सभी कोविड सेंटर में पर्याप्त संख्या में आक्सीजन सिलेंडर हैं. इसके लिए लगातार आक्सीजन सिलेंडरों कि व्यवस्था भी की जा रही है जिससे कि किसी भी मरीज को आक्सीजन की कमी का सामना नहीं करना पड़े. कोविड डेडिकैटेड अस्पतालों में आक्सीजन की पर्याप्त व्यवस्था के लिए जनरेशन प्लांट स्थापित करने का काम भी किया जा रहा है. (Medical Minister Raghu Sharma Latest News)

 

(प्रतिकात्मक तसवीर)