Rajasthan Exclusive > देश - विदेश > प्रवासी मजदूरों को बिना राशन कार्ड मुफ्त मिलेगा अनाज, राम विलास पासवान का बड़ा ऐलान

प्रवासी मजदूरों को बिना राशन कार्ड मुफ्त मिलेगा अनाज, राम विलास पासवान का बड़ा ऐलान

0
43

केंद्रीय खाद्य मंत्री राम विलास पासवान ने कहा है कि राज्यों में स्थिति गोदामों में पर्याप्त खाद्यान्न भंडार है. राज्य आठ करोड़ प्रवासी मजदूरों के बीच मुफ्त वितरण के लिए शुक्रवार (15 मई) से इसे उठा सकते हैं. मुफ्त अनाज उन प्रवासी मजदूरों को मिलेगा जिनके पास राशन कार्ड नहीं है. पासवान ने प्रवासी मजदूरों को अगले दो महीने प्रति व्यक्ति 5 किलो चावल या गेहूं तथा प्रति परिवार एक किलो चना दाल मुफ्त दिये जाने के सरकार के निर्णय की सराहना की.

राज्यों के गोदामों में पर्याप्त अनाज का भंडार: पासवान

सरकार ने कोरोना वायरस महामारी और उसकी रोकथाम के लिये जारी ‘लॉकडाउन’ से प्रभावित लोगों को राहत देने के लिये दूसरे चरण में प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा करते हुए प्रवासी मजदूरों को मुफ्त अनाज उपलब्ध कराने का एलान किया. पासवान ने इस घोषणा के बाद कहा कि राज्य स्थित गोदामों में पर्याप्त अनाज का भंडार पड़ा है. हमारा मंत्रालय आठ करोड़ प्रवासी मजदूरों को राशन की आपूर्ति करने के लिये पूरी तरह तैयार है. ये 10 प्रतिशत गरीब के पास राशन कार्ड नहीं हैं लेकिन उन्हें मुफ्त अनाज मिलेगा.

उन्होंने कहा कि अनाज की खरीद और वितरण के लिये सरकार की नोडल एजेंसी भारतीय खाद्य निगम को इसके लिये जरूरी व्यवस्था करने को कहा गया है. पासवान ने कहा कि एक बार आर्डर जारी हो जाता है, राज्य शुक्रवार से गोदामों से अनाज उठा सकते हैं और उसका वितण सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) के जरिये शुरू कर सकते हैं. मंत्री ने उदाहरण देते हुए कहा कि बिहार में 14 लाख गरीब ऐसे हैं जो न तो खाद्य सुरक्षा कानून के तहत आते हैं और न ही उसके पास कोई राशन कार्ड है, उन्हें इससे लाभ होगा.