Rajasthan Exclusive > राजस्थान > ‘‘मास्क नहीं तो सब्जी नहीं’’, ग्राहक और विक्रेता टोकें, एक-दूसरे को गलती से रोकें

‘‘मास्क नहीं तो सब्जी नहीं’’, ग्राहक और विक्रेता टोकें, एक-दूसरे को गलती से रोकें

0
81

जयपुर: दुकानों में ‘‘नो मास्क, नो एंट्री’’ (No masks no vegetables latest News) की तरह रविवार सुबह मुहाना सब्जी मंडी में ‘‘नो मास्क नो सब्जी’’ (No masks no vegetables latest News) जैसे स्लोगन के साथ सब्जी विक्रेताओं एवं ग्राहकों को कोरोना से बचाव के उपाय अपनाने के लिए जागरूक किया गया एवं मास्क एवं सेनेटाइजर वितरित किए गए। रविवार सुबह आमेर एसडीएम लक्ष्मीकांत कटारा एवं सांगानेर एसडीएम घनष्याम शर्मा के नेतृत्व में ‘‘रॉयल बटालियन आफ बुलेट्स’’ के दल के सहयोग से स्टेच्यू सर्किल से मुहाना मंडी तक निकाली गई मोटरसाइकिल रैली के जरिए मंडी एवं शहर के कई क्षेत्रों में कोरोना से बचाव का संदेष दिया गया।

रैली का आरम्भ करते हुए कटारा ने कहा कि कोरोना से सावचेत रहना जरूरी है क्योंकि कोरोना (No masks no vegetables latest News) से बचाव के उपायों के प्रति लापरवाही के कारण ही जयपुर में यह तेजी से बढा है। इसलिए राज्य सरकार और जिला प्रषासन अलग-अलग माध्यमों से इस ओर आमजन में जागरूकता के लिए प्रयास कर रहे हैं।

यह भी पढे: मुख्यमंत्री गहलोत का बड़ा फ़ैसला: राजस्थान के 11 शहरों में धारा 144 लागू

उन्होने रॉयल बटालियन आफ बुलेट्स के टीम लीडर अमित एवं सभी स्वयंसेवकों के इस ओर किए जा रहे प्रयासों की सराहना करते हुए युवाओं का आह्वान किया कि वे स्वयं कोविड सुरक्षा नियमों की पालना करते हुए अधिक से अधिक लोगों को जागरूक करें। उन्होने कहा कि कोविड के ग्रस्त होने वाले मरीजों के लिए भी जिला प्रषासन 24 घंटे मुस्तैद है। आक्सीजन, बैड एवं अन्य सभी व्यवस्थाएं माकूल हैं। स्वयं जिला कलक्टर अन्तर सिंह नेहरा लगभग प्रतिदिन कोविड अस्पतालों के राउण्ड लेकर व्यवस्थाओं पर नजर बनाए हुए हैं।

सांगानेर एसडीएम घनष्याम शर्मा ने कहा कि कोविड से घबराने की नहीं लेकिन सावचेत रहने की जरूरत है। आरयूएचएस में एक राउण्ड द क्लॉक हैल्पडेस्क काम कर रही है। हॉस्पिटल, बैड्स, समुचित इलाज, दवाइयां, टेस्टिंग सभी पक्षों पर जिला प्रषासन एवं राज्य सरकार हमेषां सतर्क हैं।

उन्होंने बताया कि रविवार को जागरूकता के लिए मुहाना मण्डी को इसीलिए चुना गया कि यह एक बडी मण्डी है। यहां न केवल स्थानीय ग्राहक और विक्रेता आते हैं बल्कि बाहर से भी बड़ी संख्या में लोगों का आना-जाना होता है। उन्हें ‘‘मास्क नहीं तो, सब्जी नहीं’’ (No masks no vegetables latest News) जैसे उपायों के प्रति जागरूक करने ही कोरोना को नियंत्रित किया जा सकता है।

यह भी पढे: कोरोना की बढ़ती संख्या पर नियंत्रण के लिए सरकार पूरी तरह सतर्क: शर्मा

दोनों उपखण्ड अधिकारियों ने अपनी-अपनी मोटरसाइकिल पर इस रैली में हिस्सा लेकर युवा टीम का उत्साह बढाया। रैली सुबह साढे पांच बजे स्टेच्यू सर्किल से रवाना हुई। इसके बाद अमर जवान ज्योति, जनपथ से गुजरते हुए रामबाग सर्किल, गांधीनगर, टोंक फाटक, दुर्गापुरा मोड, महारानी फार्म, अग्रवाल फार्म, विजयपथ होते हुए मुहाना मंडी पहुंची। यहां पहुंचकर मंडी में आए सब्जी विक्रेताओं एवं ग्राहकों को मास्क, सोषल डिस्टेंसिंग एव सेनेटाइजर (No masks no vegetables latest News) के उपयोग के लिए आग्रह किया गया।

विक्रेताओं से कहा गया कि अगर कोई ग्राहक बिना मास्क नजर (No masks no vegetables latest News) आए तो उसे टौकें और मास्क लगाने को कहें, क्योंकि सब्जीमण्डी जैसी भीड़-भाड़ वाली जगह पर एक संक्रमित व्यक्ति सुपर स्प्रेडर बनकर खतरे का कई गुना बढा सकता है। इसी तरह ग्राहक को भी सब्जी विक्रेता को टोकना चाहिए और मास्क नहीं लगाने वाले सब्जी विक्रेता से सब्जी नहीं लेनी चाहिए, क्योंकि यह सभी के हित की बात है।

पूरे रास्ते बाइक राइडर्स ने ‘‘एक भी गलती पडे़गी भारी, कोरोना है घातक बीमारी’’, भीड़ में जाने की ऐेसी भी क्या मजबूरी, कोरोना से जीवन को बचाना है जरूरी’’, इससे पहले कि जान पर बन आए, कोरोना से बचाव के उपाय अपनाएं’’ जैसे स्लोगनों के जरिए आमजन को जागरूक किया।

 

(प्रतिकात्मक तसवीर)