Rajasthan Exclusive > देश - विदेश > कोरोना खात्मे को लेकर गुजरात के बाद ओडिशा में अंधश्रद्धा, पुजारी ने हत्या कर दी बलि

कोरोना खात्मे को लेकर गुजरात के बाद ओडिशा में अंधश्रद्धा, पुजारी ने हत्या कर दी बलि

0
218

ओडिशा के कटक जिले में 70 वर्षीय एक पुजारी ने मंदिर परिसर में महामारी खत्म करने के लिए एक व्यक्ति की हत्या कर बलि देने का दावा किया. पुजारी ने पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर हत्या करने की बात स्वीकार की. इससे पहले गुजरात में कुछ ऐसा मामला सामने आया था जहां एक श्रमिक ने एक मंदिर में जाकर कोरोना खात्मे को लेकर अपनी जुबान काट दी थी.

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि आरोपी संसार ओझा ने पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर हत्या करने की बात स्वीकार की. अथागढ़ पुलिस के सब डिविजनल आलोक रंजन राय ने कहा कि ओझा ने दावा किया कि देवी ने उसके सपने में आकर उससे कहा था कि कोरोना महामारी के अंत के लिए एक मनुष्य की बलि देनी होगी. घटना नरसिंहपुर थाना क्षेत्र के बाहुड़ा गांव के ब्राह्मणी देवी मंदिर में बुधवार रात हुई. मृतक की पहचान 52 वर्षीय सरोज कुमार प्रधान के तौर पर हुई है.

उन्होंने कहा कि पुलिस आरोपी के दावों को नहीं मान रही है। हत्या के लिए इस्तेमाल की गई कुल्हाड़ी को भी जब्त कर लिया गया है और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है. हत्या का मकसद पता लगाने की कोशिश जारी है. वहीं स्थानीय लोगों का कहना है कि ओझा का लंबे समय से गांव में आम के एक बाग को लेकर प्रधान के साथ विवाद चल रहा था.