Rajasthan Exclusive > देश - विदेश > भारत-चीन झड़प पर पीएम मोदी का तीखा रुख, कहा- जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा

भारत-चीन झड़प पर पीएम मोदी का तीखा रुख, कहा- जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा

0
249

भारत और चीन के सैनिकों के बीच लद्दाख सीमा पर हुई झड़प के बाद सरकार हरकत में आ गई है. रक्षा मंत्री से लेकर विदेश मंत्री तक और सेना प्रमुखों से लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक, इस मुद्दो पर गंभीरता से विचार कर रहे हैं. इस बीच बुधवार को मुख्यमंत्रियों संग वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से बैठक में प्रधानमंत्री मोदी ने भारतीय सेना की चीन के साथ हुई झड़प पर बयान दिया है. पीएम मोदी ने कहा का जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा.

राज्य के मुख्यमंत्रियों संग बीतचीत करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हम किसी को कभी उकसाते नहीं हैं, लेकिन अपनी संप्रभुता और अखंडता से भी कोई समझौता नहीं करते हैं. मैं देश को भरोसा दिलाना चाहता हूं कि हमारे जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा. हमारे लिए भारत की अखंडता और संप्रुभता सर्वोच्च है और इसकी रक्षा करने से हमें कोई रोक नहीं सकता. इस बारे में किसी भी जरा भी संदेह नहीं होना चाहिए.

इस दौरान पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के अलावा 15 प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों ने वीरगति को प्राप्त हुए 20 जवानों के सम्मान में दो मिनट का मौन रखा. उन्होंने कहा कि भारत शांति चाहता है लेकिन उकसाने पर यथोचित जवाब देने में सक्षम है. देश को इस बात का गर्व होना चाहिए कि हमारे जवानों ने मारते-मारते जान गंवाई है.

मालूम हो कि पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई झड़प में देश के 20 जवान शहीद हो गए थे. इस खबर के बाद चीन के विरोध को लेकर भारत में आवाजें बुलंद हो गई हैं. कई लोग इसे तीसरे विश्व युद्ध की शुरुआत बता रहे हैं. इस बीच इसी बीच भारतीय सेना ने चीन के साथ हुई झड़प में शहीद हुए जवानों के नाम और रेजिमेंट के नाम जारी किए हैं. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने जवानों की शहादत को नमन किया है. हालांकि विपक्ष लगातार केंद्र सरकार से इस मुद्दे पर स्पष्टीकरण मांग रहा है.