Rajasthan Exclusive > देश - विदेश > नहीं रहे देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री मोदी ने जताया शोक

नहीं रहे देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री मोदी ने जताया शोक

0
324

देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी (Pranab Mukherjee) का निधन हो गया है.

प्रणब मुखर्जी के बेटे अभिजीत मुखर्जी ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी.

प्रणव मुखर्जी (Pranab Mukherjee) 84 वर्ष के थे.

उनकी स्वास्थ्य को लेकर लगातार अपडेट जारी किया जा रहा था लेकिन वह कभी उबर नहीं पाए.

वह कोरोना से भी संक्रमित थे.

प्रणब मुखर्जी (Pranab Mukherjee) को गत 10 अगस्त को अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

आज सुबह जारी एक स्वास्थ्य बुलेटिन में कहा गया कि वह गहरे कोमा में हैं और उन्हें वेंटीलेटर पर रखा गया है.

अभिजीत मुखर्जी ने ट्वीट किया,

‘‘भारी मन से आपको सूचित करना है कि मेरे पिता श्री प्रणब मुखर्जी का अभी कुछ समय पहले निधन हो गया.

आरआर अस्पताल के डॉक्टरों के सर्वोत्तम प्रयासों और पूरे भारत के लोगों की प्रार्थनाओं और दुआओं के लिए मैं आप सभी को हाथ जोड़कर धन्यवाद देता हूं.’’

दिन प्रतिदिन बिगड़ती गई तबीयत

इससे पहले डॉक्टर ने बताया था कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी (Pranab Mukherjee) का स्वास्थ्य और खराब हो गया क्योंकि फेफड़े में संक्रमण की वजह से उन्हें सेप्टिक शॉक लगा है.

सेप्टिक शॉक एक ऐसी गंभीर स्थिति है, जिसमें रक्तचाप काम करना बंद कर देता है और शरीर के अंग पर्याप्त ऑक्सीजन प्राप्त करने में विफल हो जाते हैं.

यह भी पढे: अवमानना मामले में सुप्रीम कोर्ट ने प्रशांत भूषण पर 1 रुपए का जुर्माना लगाया

पिछले कई दिनों से बड़े डॉक्टर उनकी निगरानी कर रहे थे, लेकिन लगातार उनकी तबीयत बिगड़ती चली गई थी.

जिसके बाद सोमवार को उन्होंने अंतिम सांस ली.

84 साल के प्रणब मुखर्जी (Pranab Mukherjee) साल 2012 में देश के राष्ट्रपति बने थे, 2017 तक वो राष्ट्रपति रहे. साल 2019 में उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया गया था.

राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने जताया दुख

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट कर प्रणब मुखर्जी के निधन पर दुख जताया है.

राष्ट्रपति ने कहा,

पूर्व राष्ट्रपतिश्री प्रणब मुखर्जी के स्वर्गवास के बारे में सुनकर हृदय को आघात पहुंचा.

उनका देहावसान एक युग की समाप्ति है.

श्री प्रणब मुखर्जी के परिवारमित्र-जनों और सभी देशवासियों के प्रति मैं गहन शोक-संवेदना व्यक्त करता हूँ.

असाधारण विवेक के धनीभारत रत्न श्री मुखर्जी के व्यक्तित्व में परंपरा और आधुनिकता का अनूठा संगम था.

5 दशक के अपने शानदार सार्वजनिक जीवन मेंअनेक उच्च पदों पर आसीन रहते हुए भी वे सदैव जमीन से जुड़े रहे.

अपने सौम्य और मिलनसार स्वभाव के कारण राजनीतिक क्षेत्र में वे सर्वप्रिय थे.

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर प्रणब मुखर्जी के निधन पर दुख जताया.

उन्होंने कहा पूर्व राष्ट्रपति के महत्वपूर्ण योगदार को देश याद रखेगा.

उनका सम्मान हर एक वर्ग में था.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रणब मुखर्जी के निधन पर दुख जताते हुए कहा कि मैं उन्हें श्रद्धांजलि देता हूं.

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि भारतीय राजनीति का एक अध्याय समाप्त हो गया.

उन्होंने हमेशा देश को दलगत राजनीति से ऊपर रखा.

यह भी पढे: स्कूल फीस मुद्दे को लेकर पहली बार राजस्थान बंद

मैं मध्यप्रदेश की जनता की ओर से उन्हें अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी के निधन की दुखद खबर मिली.

ईश्वर दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान दें और उनके परिवार एंव प्रियजनों को यह दुख सहने का साहस दें.