Rajasthan Exclusive > देश - विदेश > तालाबंदी के बीच पंजाबियों का गुजरेगा वीकेंड, बॉर्डर भी होंगे सील

तालाबंदी के बीच पंजाबियों का गुजरेगा वीकेंड, बॉर्डर भी होंगे सील

0
251

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बाद पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह एक बार फिर से तालाबंदी का मंसूबा बना रहे हैं. लेकिन सिर्फ और सिर्फ वीकेंड और छुट्टियों के दिन यानी इन दिनों पंजाब बिल्कुल बंद रहेगा सिर्फ और आवश्यक सेवाओं के लिए लोग घर से निकल सकेंगे. कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच गुरूवार को समीक्षा बैठक में उन्होंने कहा कि उनकी सरकार की पहली प्राथमिकता है कि पंजाबियों की जान इस वायरस से बचाया जाए.

पंजाब के मुख्यमंत्री कोरोना संकट से निपटने के लिए लगातार कोशिश कर रहे हैं. पंजाब में कोरोना वायरस बढ़ते मामलों के पीछे अधिकांश संक्रमितों की ट्रेवल हिस्ट्री रही है. जिसके बाद सरकार ने फैसला लिया है कि कि फ्लाइट या ट्रेन से आने वाले तमाम लोगों को 14 दिन तक घर में ही क्वारंटीन रहना होगा. इसके अलावा चंडीगढ़ में इंटर-स्टेट बस सर्विस बंद कर दी गई है. इतना ही नहीं बल्कि राज्य सरकार बॉर्डर को भी सील करने का फैसला लिया है.

जारी किए गए नए दिशानिर्देशों के अनुसार आवश्यक वस्तुओं, सेवाओं से संबंधित दुकानें शाम 7 बजे तक सभी दिन खुली रहेंगी, जबकि होटल रेस्तरां और शराब की दुकानें भी सभी दिनों में 8.00 बजे तक खुली रहेंगी. हालांकि, अन्य दुकानें, चाहे वह स्टैंडअलोन हों या शॉपिंग मॉल, रविवार को बंद रहेंगी, जबकि शनिवार को वे शाम 5 बजे तक खुल सकती हैं. सरकार ने जिला अधिकारियों ने टाइमिंग का कड़ाई से पालन करवाने का आदेश दिया है.

पंजाब सरकार का मानना है कि दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों के कारण पंजाब में कोरोना के मामले लगातार तेजी से बढ़ रहे हैं. राष्ट्रीय राजधानी से रोजाना हजारों की संख्या में वाहन पंजाब में आ रहे हैं. इसके साथ ही पंजाब सरकार इस बात पर भी विचार कर रही है कि दिल्ली और अन्य राज्यों से आने वाले लोगों के लिए कोरोना टेस्ट अनिवार्य कर दिया जाए.