Rajasthan Exclusive > राजस्थान > राजस्थान में बारिश का सिलसिला जारी, पश्चिमी जिलों में अलर्ट जारी

राजस्थान में बारिश का सिलसिला जारी, पश्चिमी जिलों में अलर्ट जारी

0
10988
  • प्रदेश में बारिश का दौर शुरू

  • सिस्टम का प्रभाव 25 अगस्त से पूर्वी राजस्थान में कम होगा

  • दक्षिणी राजस्थान में जमकर बारिश हो रही है

जयपुर: बारिश की सक्रियता के चलते राजस्थान तरबतर हो रहा है और रविवार से शुरू हुई बूंदाबांदी का दौरान सोमवार को दोपहर तक भी जारी रहा।

इस दौरान प्रदेश के आधे से भी ज्यादा जिलों में रूक-रूक कर बारिश हो रहा है।

राजस्थान की राजधानी जयपुर में आज तड़के सुबह से ही बरसात हो रही है और आसमान में बादल छाए हुए है।

मौसम खुशनुमा बना हुआ है और पिंकनिक स्पोट पर लोगों की भीड़ जुटी हुई है।

वहीं लगातार सक्रिय मानसून की मेहरबानियां अब पश्चिमी राजस्थान की ओर शिफ्ट होने वाली है।

वर्तमान में कम दबाव का क्षेत्र पूर्वी राजस्थान पर स्थित है।

इसके जल्द ही पश्चिमी राजस्थान की ओर बढऩे की संभावना है।

इस सिस्टम का प्रभाव 25 अगस्त से पूर्वी राजस्थान में कम होगा जबकि पश्चिमी राजस्थान में इसके तीन-चार दिन तक बने रहने की संभावना है।

दक्षिणी राजस्थान में जमकर बारिश हो रही है।

भारी बारिश हो सकती है

मौसम विभाग ने सोमवार के लिये प्रदेश के दो जिलों के लिये रेड और चार जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।

रेड अलर्ट पश्चिमी राजस्थान के लिए जारी किया गया है।

इनमें बाड़मेर और जालोर जिले में कहीं कहीं भारी से भारी बारिश होने की संभावना जताई गई है

वहीं सिरोही, उदयपुर, जैसलमेर और जोधपुर के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी करते हुए वहां भारी बारिश के आसार बताये गए हैं।

रविवार को प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में जोरदार बारिश का दौर देखने को मिली।

बाड़मेर, टोंक के देवली, भीलवाड़ा के जहाजपुर और उदयपुर तथा चित्तौडगढ़ में जमकर बारिश हुई।

उदयपुर में 60 मिलमीटर तो चित्तौडग़ढ़ में 25 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है।

गुलाबी नगर में मौसम सुहावना

राजधानी जयपुर में हालांकि बारिश नहीं हुई, लेकिन बादलों ने डेरा डाले रखा।

रविवार देर रातसे सोमवार तक हल्की फुहारों ने मौसम को सुहावना बना दिया।

सोमवार की सुबह बारिश की हल्की बूंदाबांदी से दिन की शुरुआत हुई।

समाचार लिखे जाने तक बादल छाये हुए थे और हल्की फुहार गिर रही थी।

राजय में में मानसून मेहरबान

राज्य में मानसून मेहरबान होने से कई जगह हालात खराब हो गए हैं। बांसवाड़ा, डूंगरपुर, उदयपुर, चित्तौड़गढ़ सहित अन्य हिस्सों में बारिश के चलते गांव का संपर्क कट गया और कई गांव टापू बन गए हैं।

माही के गेट खोले गए हैं, जिससे पानी की निकासी हो रही है। बीसलपुर बांध में पानी की आवक निरंतर जारी है।

बीते 12 घंटे में भीलवाड़ा में डेढ़ इंच हुई बारिश, सर्वाधिक मातृकुंडिया व जहाजपुर में ढाई इंच बारिश दर्ज, गोटा बांध ओवरफ्लो,7 इंच की चल रही है बांध पर चादर, गंगापुर, सहाड़ा व कारोई में 2 इंच हुई बारिश.

2 गेट को खोलकर डाउन स्ट्रीम में छोड़ा जा रहा पानी, 4 हज़ार 944 क्यूसेक पानी की हो रही निकासी, जवाहर सागर और बरसाती नालों से हुई पानी की आवक।