Rajasthan Exclusive > राजस्थान > कांग्रेस ने 55 साल के राज में किसानों के लिए कुछ नहीं किया: पूनियां

कांग्रेस ने 55 साल के राज में किसानों के लिए कुछ नहीं किया: पूनियां

0
74

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत एवं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविन्द सिंह डोटासरा द्वारा कृषि विधेयकों को लेकर राज्यपाल को दिए ज्ञापन पर कहा कि कांग्रेस ‘सौ चूहे खाकर बिल्ली हज को चली’ जैसी नौटंकी कर रही है।

पूनियां ने कहा कि, कांग्रेस ने 55 साल के राज में किसानों की भलाई के लिए कुछ नहीं किया। राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018 में भी कांग्रेस ने 10 दिन में सम्पूर्ण किसान कर्जमाफी का वादा किया था, लेकिन आज लगभग दो साल होने के बाद भी स्थिति ज्यों की त्यों है। अभी तक किसानों की कर्जमाफी नहीं हुई है, जिससे प्रदेश का किसान निराश है।

यह भी पढे: पंजाब के मुख्यमंत्री कृषि कानून के विरोध में धरने पर बैठे

वह खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहा है। उन्होंने कहा कि पिछले दिनों श्रीगंगानगर सहित विभिन्न जिलों में ओलावृष्टि एवं बारिश से किसानों की फसलों को भारी नुकसान हुआ है, लेकिन अभी तक सरकार ने मुआवजे की प्रक्रिया शुरू नहीं की है। टिड्डी हमले से भी 30 से अधिक जिलों में फसलों को नुकसान हुआ है। उसके मुआवजे को लेकर भी सरकार मौन है, उसे अपनी स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए।

पूनियां ने कहा कि केन्द्र सरकार के कृषि कानून किसानों के कल्याण की दिशा में क्रांतिकारी साबित होंगे। इससे किसान आर्थिक मजबूती के साथ आत्मनिर्भर बनेगा। कृषि कानूनों से राजस्थान के ग्रामीण क्षेत्रों में, खेती एवं खेती से जुड़े उद्योग धंधों से किसानों, नौजवानों एवं महिलाओं को रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।

यह भी पढे: मुख्यमंत्री ने खाद्यान्न सुरक्षा के रूप में 4.14 लाख परिवारों को सहायता देने का निर्णय

उन्होंने कहा कि अब कांग्रेस यूटर्न क्यों ले रही है। जबकि 2007 में एपीएमसी का जो मॉडल मनमोहन सरकार ने बनाया था, उस बारे में कांग्रेस चुप है। 2003 में कर्नाटक में, 2007 में हरियाणा में, 2017 में पंजाब में अनेक अवसरों पर अपनी सरकारों में कांग्रेस पार्टी ने इस तरह के प्रावधानों पर काम किया है।