Rajasthan Exclusive > राजस्थान > नगर निगम चुनाव के नतीजे को लेकर सियासी दल अपने अपने गुणा भाग में उलझे

नगर निगम चुनाव के नतीजे को लेकर सियासी दल अपने अपने गुणा भाग में उलझे

0
209

प्रदेश में नगर निगम चुनाव संपन्न हो चुके हैं और चुनाव के नतीजे मंगलवार को आ जाएंगे. सभी नेता जहां अपनी अपनी जीत हार को लेकर सियासी गुणा भाग में जुटे हैं.वहीं पार्षद प्रत्याशियों की धड़कनें भी संभावित नतीजों को लेकर बढ़ी हुई है. जहां सत्ता पक्ष और प्रतिपक्ष अपनी अपनी जीत के दावे कर रहे हैं, वहीं संभावित नतीजों से आश्वस्त बीजेपी ने अपने पार्षद प्रत्याशियों को प्रशिक्षण देने के नाम पर होटलों में बाड़ाबंदी कर दी है.

लेकिन मुख्य सचेतक डॉ महेश जोशी की माने तो बीजेपी की बाड़ाबंदी में नियमों का पेच आड़े आ गया है और उसी पेच के कारण बीजेपी को उनके पार्षद प्रत्याशियों को बाड़ाबंदी से आजाद करना पड़ेगा.डॉ जोशी ने बताया की मतगणना के दौरान प्रत्याशियों को मौजूद रहना पड़ेगा. क्योंकि जीतने के बाद मौके पर ही प्रत्याशी को विनिंग सर्टिफिकेट मिलेगा और हाथों हाथ शपथ दिलाई जाएगी.

यह भी पढे: केन्द्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ राज्य में कृषि संशोधन बिल पर विधानसभा ने मुहर लगाई

अगर किसी दशा में जीते हुए प्रत्याशी ने शपथ नहीं ली तो ना तो वो मेयर और डिप्टी मेयर पद के प्रत्याशियों के प्रस्तावक बन सकेंगे और ना ही उन्हें वोट देने के काबिल रह पाएंगे.

मुख्य सचेतक डॉ जोशी के इस अहम खुलासे के बाद बीजेपी कैंप में सनसनी फैल गई है.जानकार सूत्रों के मुताबिक बीजेपी निगम चुनाव के जयपुर प्रभारी वासुदेव देवनानी ने जिला निर्वाचन अधिकारी से नियमों की जानकारी ली है.साथ ही अब इस बात की प्रबल संभावना है कि पार्षद प्रत्याशियों को होटल से आजाद कर दिया जाएगा.