Rajasthan Exclusive > राजस्थान > नो मास्क, नो एंट्री: कोरोना को लेकर राजस्थान सरकार गंभीर

नो मास्क, नो एंट्री: कोरोना को लेकर राजस्थान सरकार गंभीर

0
191

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Rajasthan Government Latest News) की बैठक से निकले प्रस्ताव को जयपुर के कारोबारियों ने लागू कर दिया हैं। जयपुर के एमआई रोड बाजार से तीन दिवसीय विशेष जागरूकता अभियान की शुरूआत हुई हैं। चारदीवारी (Rajasthan Government Latest News) के 32 हजार और जयपुर शहर के सवा लाख कारोबारी यह प्रण लेंगे की बिना मास्क (Rajasthan Government Latest News) दूकान में किसी की एंट्री नहीं हो। कार्यालयों में भी इसे प्रमुखता से लागू किया जाएगा। पुलिस, प्रशासन और कारोबारी मिलकर सुरक्षा (Rajasthan Government Latest News) चक्र बनाएगें।कोरोना सिंतबर माह में बेकाबू हैं।

सितंबर माह के पहले पचावाड़े में ही कोरोना संक्रमितों का आकड़ा पांच हजार के करीब हें। अस्पतालों की सुविधा भी जवाब देने लगी हैं, गुलाबी नगरी का ऐसी कोई कॉलोनी नहीं जहां संक्रमित नहीं मिला हो। कोरोना (Rajasthan Government Latest News) का वायरस अनलॉक हैँ। वैक्सीन और दवा का इंतजार (Rajasthan Government Latest News) लगातार लंबा होता जा रहा हैं, ऐसे में अब आम लोग सुरक्षा गाइड लाइन की पालना कडा़ई से करें तो कोरोना की चेन ब्रेक होने की संभावना अधिक हैं। जयपुर के दो लाख वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों ने कोरोना को हराने की जिद ठानी हैं।

यह भी पढे: सुबह पहले 800 से ज्यादा मामले, राजस्थान में अब तक कुल 106700 लोग हुए शिकार

अपने व्यावसायिक और कारोबारी स्थलों पर बिना मास्क (Rajasthan Government Latest News) किसी भी एंट्री नहीं करेंगे। वहीं सेनेटाइजर, शोशल डिस्टेंसिंग की पालना पर भी फोकस होगा। जयपुर व्यापार महासंघ के बैनर तले 18 सिंतबर तक जयपुर के सभी बाजारों में विशेष अभियान (Rajasthan Government Latest News) संचालित कर उपभोक्ता और कारोबारी दोनों को जागरूक किया जाएगा। जिला कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा, आयुक्त जयपुर हेरिटेज नगर निगम लोकबंधु सहित व्यापारी की मौजूदगी में इस कार्यक्रम की शुरूआत हुई।

जयपुर कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा ने कहा ही पूरा देश अब अनलॉक फेज में आगे से बढ़ रहा हैं, इस बीच यह भी ध्यान रखना होगा की कोरोना हमारे बीच हैं। इसके लिए सर्तकता, सावधानी और सुरक्षा का चक्र हमेशा साथ रखना होगा। जयपुर के व्यापारियों की पहल सराहनीय हैं।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की समीक्षा बैठक में भी देश के ख्यातनाम चिकित्सकों की यहीं राय सामने आई थी। जयपुर हेरिटेज नगर निगम के आयुक्त लोकबंधु का कहना हैं कि यह पहल कोरोन संक्रमण के खतरे से बचाव की जागरूकता पैदा करेगी। जब तक वैक्सीन नहीं आए खतरा मौजूद हैं, ऐसे में मास्क की अनवार्यता का पालन कारोबारी करेंगे यह बेहतर हैं।

यह भी पढे: कोरोना जांच की दरों में बड़ी कटौती, 2200 के बजाए 1200 रुपए में होगी कोरोना की जांच

जयपुर के कारोबारियों की इस पहल  से साथ उपभोक्ता भी आए हैं। जो उपभोक्ता बिना मास्क के बाजार में आएगा, उसे व्यापार मॉस्क उपलब्ध करवाएगें। इसके साथ ही कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम होने तक कारोबारी समय के घंटे भी कम किए जा रहे हैं। बाजारों में को नियमित सेनेटाइज भी करवाया जाएगा। व्यापारियों को उममीद हैं इससे बिना ग्राहकी पर असर पड़े कोरोना संक्रमण का खतरा ती से चालीस फीसदी कम होगा।

क्या बोले चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने बताया कि राज्य में निजी अस्पतालों तथा प्रयोगशालाओं में कोरोना की जांच की दर प्रति सैम्पल 2200 रुपये से घटाकर 1200 रुपये कर दी गई है. उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिला कलेक्टर तथा उपखण्ड अधिकारी प्रदेश में आगामी दिनों में प्रस्तावित पंचायतीराज संस्थाओं के चुनावों के लिए अभ्यर्थियों, उनके एजेन्टों तथा समर्थकों आदि के लिए भीड़ नहीं करने, मास्क पहनने जैसे हेल्थ प्रोटोकॉल की कड़ाई से पालना करने के लिए दिशा-निर्देश जारी करें.

यह भी पढे: चंबल नदी में नाव डूबने से 14 लोगों की मौत, कोटा जिले के गोठड़ा गांव में कोहराम

बैठक में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग, मुख्य सचिव राजीव स्वरूप, पुलिस महानिदेशक भूपेन्द्र सिंह, अतिरिक्त मुख्य सचिव वित्त निरंजन आर्य, प्रमुख शासन सचिव गृह अभय कुमार, शासन सचिव चिकित्सा शिक्षा वैभव गालरिया, आयुक्त सूचना एवं जनसम्पर्क महेन्द्र सोनी सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे.