Rajasthan Exclusive > राजस्थान > गुजरात के नक्शेकदम पर राजस्थान, शिक्षक उड़ाएंगे टिड्डियां

गुजरात के नक्शेकदम पर राजस्थान, शिक्षक उड़ाएंगे टिड्डियां

0
162

कभी वो कक्षा में पढ़ाते हैं तो कभी वो जनगणना के आंकड़े जुटाते हैं. कभी वो चुनाव कराते तो कभी वो कोरोना में घर घर जाकर सर्वे करते हैं. ये शिक्षक ही हैं जो कमोबेश सरकार के हर अभियान में कहीं ना कहीं काम आते हैं. लेकिन अब शिक्षकों की ड्यूटी टिड्डी उड़ाने में भी लगा दी गई है. राजस्थान के कोटा जिले के इटावा उपखंड अधिकारी ने जब से इसके आदेश निकाले हैं तब से वहां बवाल मचा हुआ है.

कोटा जिले के इटावा उपखंड के एसडीएम ने बाकायदा ऑर्डर निकालकर शिक्षकों को टिड्डी निगरानी दल में शामिल किया है. आदेशानुसार प्रधानाचार्य अधीनस्थ कार्मिकों की मॉनिटरिंग करेंगे और समय समय पर उच्चाधिकारियों से आदेशों-निर्देशों की पालना करायेंगे. कोरोना संकट में ड्यूटी करके थककर चूर हो चुके शिक्षक इस आदेश से भड़क उठे हैं.

वहीं इटावा के उपखंड अधिकारी राजकुमार बरनाला ने कहा कि प्रधानाध्यापक या प्रधानाचार्य पीईईओ स्तर के शिक्षक होते हैं. अभी शिक्षक कोरोना डयूटी भी कर रहे हैं. शिक्षकों का अभिभावकों और ग्रामीणों से सीधा संबंध होता है. अगर कहीं टिडडी दलों के धावा बोलने की सूचना उन्हें प्राप्त होती है तो उसे वो अधिकारियों के साथ और संयुक्त टीमों के साथ साझा करेंगे. तभी किसान की फसल हम बचा पायेंगे. गौरतलब हो कि इससे पहले गुजरात में रुपाणी सरकार ने कुछ ऐसा ही फैसला किया था जिसपर खूब राजनीति हुई थी.