Rajasthan Exclusive > देश - विदेश > विदेश में भी अपनाया गया राजस्थान मॉडल, जयपुर की बेटी ने कोरोना से अमेरिका में कई लोगों की जान बचाई

विदेश में भी अपनाया गया राजस्थान मॉडल, जयपुर की बेटी ने कोरोना से अमेरिका में कई लोगों की जान बचाई

0
314

कोरोना वायरस से जंग लड़ने के लिए अपनाए गए राजस्थान मॉडल की सराहना हुई थी. देश में ही नही पर विदेश में भी इस मॉडल को अपनाया गया हैं. अमेरिका के ह्यूस्टन में रह रही जयपुर की डॉक्टर राजश्री सिंह ने अपने पिता से फोन पर बात कर राजस्थान मॉडल अपनाने की सलाह अपने शहर के लोगों को दी. डॉक्टर राजश्री सिंह ने शहर के लोगों को सेल्फ क्वॉरटींन रहने की सलाह दी और डॉक्टर की सलाह पर वह सेल्फ क्वॉरंटीन हो गए. जिससे ह्यूस्टन में हजारों लोग कोरोना संक्रमण से बच गए.

डॉक्टर राजश्री का कहना था कि सरकार की कोई सख्ती नहीं थी और राजस्थान की तरह लॉकडाउन भी नहीं था. अमेरिका में लॉकडाउन नहीं किया गया था लेकिन फिर भी मेरी अपील पर लोग घर में कैद हो गए और वह बहुत जरूरी होने पर घर से बाहर निकले.

अमेरिका में डॉक्टर यह बेटी राजस्थान सरकार में दो बार मंत्री रहे और अब तक छह बार विधायक बन चुके डॉ. जितेंन्द्र सिंह की पुत्री हैं. इनका पूरा परिवार ही इस समय कोरोना वोरियर्स है. खेतड़ी वर्तमान विधायक डॉ. जितेन्द्र सिंह खुद भी एमबीबीएस डॉक्टर है और राजस्थान सरकार में विधआयक है. वही इनके छोटे भाई डॉ. गजेन्द्र सिंह भी डॉक्टर है. इनके पिता डॉ. छोगालाल भी डॉक्टर रहे. इनकी तीन पीढ़िया चिकित्सा सेवा से जुड़ी हुई है.

कोल करके पूछा राजस्थान में कैसे कंट्रोल किया

विधायक डॉ. जितेन्द्र सिंह का कहना है कि बेटी ने फोन पर पूछा की राजस्थान में कोरोना का संक्रमण फैलने से कैसे कंट्रोल हुआ. आपकी सरकार क्या कर रही है तो मैंने राजस्थान में अपनाए गए लॉकडाउन और क्वॉरंटीन के बारे में बताया. जिसके बारे में उन्होंने वहां पर रह रहे करीब पांच लाख भारतीयों के अलावा अमेरिका के लोगों को भी बताया. इस पर अधिकत्तर लोग बेटी की सलाह पर वहां की सरकार का कोई दबाव और सख्ती नहीं होने के बावजूद भी सेल्फ क्वॉरंटीन हो गए और एक दूसरे के संपर्क में आकर संक्रमित होने से बच गए.