Rajasthan Exclusive > राजस्थान > जयपुर सहित 20 जिलों में बारिश की चेतावनी

जयपुर सहित 20 जिलों में बारिश की चेतावनी

0
293

जयपुर। मानसून विदा होने में संभवतया सिर्फ एक सप्ताह का समय बचा है, लेकिन विदाई के बेला में मानसून (Rajasthan Monsoon) फिर से गति नहीं पकड़ पा रहा है। सितंबर माह में राजधानी सहित पूरे प्रदेश में मानसून पूरी तरह से सुस्त है।

मौसम विभाग के मुताबिक पश्चिमी विक्षोभ के चलते एक बार फिर से प्रदेश में अगले 72 घंटों में अच्छी बारिश (Rajasthan Monsoon) के आसार बने हैं। इससे 15 जिलों में हल्की से मध्यम बारिश का अलर्ट जारी किया है तो वहीं इस दौरान करीब दो से तीन जिलों में मध्यम से तेज बारिश की भी संभावना है।

सितंबर में बढ़ी गर्मी

पूरे सितंबर माह में बढ़े हुए तापमान के चलते आमजन उमस और गर्मी से परेशान हैं। बुधवार को भी सुबह गर्मी का प्रकोप बढ़ा हुआ नजर आया। सुबह का तापमान 31 डिग्री सेल्यियस दर्ज किया गया। वहीं कल यह 35.4 डिग्री सेल्यियस दर्ज किया गया। बीती रात का सबसे अधिक तापमान फलौदी का 41.6, बाड़मेर का 41.2, चूरू का 40.4 डिग्री सेल्यियस दर्ज किया गया।

यह भी पढे: राजस्थान के इन जिलों में भारी बारिश की चेतावनी

यहां हुई बारिश

बुधवार सुबह तक डूंगरपुर के निथवा में 60 एमएम, बांसवाड़ा के कुशलगढ़ में 23 एमएम, डानपुर में 22, जयपुर के तस्कोला में 23 एमएम, प्रतापगढ़ के नागलिया में 52 एमएम, बामनवास में 24 एमएम,देवली में 15, उदयपुर के सलूंबर में 18 एमएम बारिश (Rajasthan Monsoon) दर्ज की गई।

आज यहां बारिश के लिए अलर्ट जारी

पूर्वी राजस्थान में अलवर, बारां, बांसवाड़ा, चितौड़गढ़, भीलवाड़ा, भरतपुर, दौसा, जयपुर, धौलपुर, करौली, कोटा, राजसमंद, सवाईमाधोपुर, बांसवाड़ा, झालावाड़, कोटा में तेज बारिश के लिए यलो अलर्ट जारी किया गया है। पश्चिमी राजस्थान में बारिश (Rajasthan Monsoon) के लिए कोई अलर्ट जारी नहीं किया है।

बांधों का जलस्तर 72 प्रतिशत तक पहुंचा

मरूधरा की मिट्टी पर इस बार मानसून ठीक ठाक मेहरबान हुआ। जिससे राजस्थान के कई बांध झलके तो कई अब तक सूखे हैं। राज्य में सभी 742 बांधों और झीलों में मानसून (Rajasthan Monsoon) से पहले जहां महज 24 फीसदी पानी था, वहीं मानसून जाते जाते अब इन्हीं बांधों का जलस्तर 72 प्रतिशत तक पहुंच गया है।

यह भी पढे: राजस्थान के इन जिलों में भारी बारिश की चेतावनी

मानूसन की बारिश (Rajasthan Monsoon) अच्छी होने के बावजूद भी बांधों की पानी नहीं पहुंच पाता। वजह ये है कि बांध के बहाव क्षेत्रों में अतिक्रमण हो गया है जिस कारण बारिश का पानी बांध में नहीं पहुंच पाता।जयपुर के रामगढ़ बांध भी पूरी तरह से अतिक्रमण की भेट चढ़ गया।

मानूसन की बारिश में 48 फीसदी बढ़ा जलस्तर

राजस्थान में मानसून की बारिश (Rajasthan Monsoon) में बांधों का जलस्तर 48 फीसदी तक बढ गया है. मानसून के पहले प्रदेश के सभी बांधों में केवल 24 फीसदी ही पानी बचा था, लेकिन मानसून की मेहरबानियों के कारण इन बांधों का जलस्तर 72 फीसदी के पार चला गया है. हालांकि मानसून के अंतिम दौर में अब अच्छी बारिश की उम्मीद कम है, लेकिन मानसून की इस बारिश ने भी बांधों को खूब भिगौया है।