Rajasthan Exclusive > राजस्थान > नगर निगम चुनाव के दौरान कांग्रेस की राजनीति में चार नेताओं का कद बढ़ा

नगर निगम चुनाव के दौरान कांग्रेस की राजनीति में चार नेताओं का कद बढ़ा

0
150

प्रदेश के 6 नगर निगमों में से 4 में कांग्रेस पार्टी का बोर्ड बनने के बाद एक ओर सरकार और कांग्रेस पार्टी में जश्न का माहौल है वहीं दूसरी ओर सरकार और संगठन में कांग्रेस के कई नेताओं का कद भी बढ़ा है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और प्रदेश कांग्रेस ने जिन नेताओं को बोर्ड बनाने का जिम्मा सौंपा था उनमें से कई नेता मुख्यमंत्री की उम्मीदों पर खरे उतरे हैं। बोर्ड बनाने के साथ-साथ महापौर और डिप्टी मेयर बनाने में भी इन नेताओं ने अहम भूमिका निभाई है। यही वजह है कि प्रदेश कांग्रेस की राजनीति में इन नेताओं का कद बढ़ा है और यह नेता पहले से ज्यादा और मजबूत बनकर उभरे हैं। इन नेताओं में यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल, परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास, मुख्य सचेतक महेश जोशी और वैभव गहलोत का नाम खासा चर्चा में है।

यह भी पढे: पदमश्री प्रजा​पति के निधन पर राज्यपाल ने जताई संवेदना

यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल नगर निगम चुनाव के बाद हाड़ौती संभाग के सबसे मजबूत नेता के तौर पर उभर कर बनकर सामने आए हैं। पहले वार्डों और नगर निगमों का परिसीमन कर सुर्खियों में आए धारीवाल कोटा उत्तर और दक्षिण दोनों में कांग्रेस पार्टी का बोर्ड बना बना कर ताकतवर नेता नेता बने हैं। धारीवाल को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का बेहद करीबी माना जाता है साथ ही कई बार सदन और सदन के बाहर धारीवाल सदैव सरकार के लिए संकट मोचक की भूमिका में नजर आते हैं।

परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास और मुख्य सचेतक महेश जोशी का भी प्रदेश की राजनीति में कद बढ़ा है, दोनों नेता पहले से भी ज्यादा मजबूत नेता के तौर पर सामने आए हैं। दोनों ही नेताओं के जिम्मे जयपुर हेरिटेज का बोर्ड बनाने की जिम्मेदारी थी, साथ ही मुस्लिम संगठनों के विरोध के चलते महापौर और उपमहापौर का चुनाव कराना था, जिस पर दोनों ने पार्षदों राजनीतिक कुशलता का परिचय देते हुए बाड़ाबंदी में पार्षदों को एकजुट रखने हुए महापौर और उपमहापौर बनाने में कामयाब रहे।

यह भी पढे: गुर्जर नेता हिम्मत सिंह ने गुर्जर आंदोलन के लिए कर्नल बैंसला की हठधर्मिता को जिम्मेदार ठहराया

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पुत्र और आरसीए के चेयरमैन वैभव गहलोत का भी प्रदेश की राजनीति में कद बढ़ा है। वैभव गहलोत ने जोधपुर के दोनों नगर निगमों में टिकट वितरण से लेकर चुनाव की पूरी कमान संभाली हुई थी। जोधपुर उत्तर में मेयर और डिप्टी मेयर बनाने में भी वैभव गहलोत की चली।