Rajasthan Exclusive > राजस्थान > मानसून से पहले कोरोना पॉज़िटिव मिले पांच सांसद, कइयों के संक्रमित होने की आशंका

मानसून से पहले कोरोना पॉज़िटिव मिले पांच सांसद, कइयों के संक्रमित होने की आशंका

0
152

आज संसद के मानसून सत्र की शुरुआत से पहले बड़ी खबर सामने आई है। सोमवार को शुरू होने वाले सत्र से पहले लोकसभा (Rajasthan Politics latest News) के पांच सदस्य कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। जबकि कई और सांसदों के पॉजिटिव (Rajasthan Politics latest News) पाए जाने की आशंका व्यक्त की जा रही है। फिलहाल कोरोना संक्रमित सांसदों के संपर्क में आए अन्य सदस्यों की जांच चल रही है।

आपको बता दें कि कोरोना महामारी (Rajasthan Politics latest News) के चलते इस बार संसद का मानसून सत्र कुछ बदला-बदला नजर आएगा। संसद की कार्यवाही के दौरान स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी गाइडलाइन का पालन करना अनिवार्य होगा। मानसून सत्र को लेकर बनाए गए नए नियमों के अनुसार लोकसभा (Rajasthan Politics latest News) हर रोज चार घंटे बैठेगी। यही वजह है कि शून्यकाल की समय सीमा को भी घटाकर आधा घंटा कर दिया गया है। इसके साथ ही सभी प्रश्नों का जवाब भी लिखित रूप में दिया जाएगा।

कोरोना संकट को ध्यान में रखते हुए इस बार संसद की कार्यवाही के दौरान एहतियातन कुछ नियमों का अनुपालन किया जाएगा। इसके साथ ही सांसदों के सीटिंग अरेंजमेंट्स में भी बदलावा किया गया है। जिसके तहत लोकसभा सांसद राज्यसभा (Rajasthan Politics latest News) कक्ष में भी बैठेंगे।

यह भी पढे: गहलोत का कोरोना प्रबंधन देश में सर्वश्रेष्ठ, अजय माकन का आकलन

खास बात यह है कि हर बार के विपरीत यह अनोखा परिवर्तन कोरोना महामारी के प्रसार को रोकने के लिए अपनाए जाने वाले उपायों के तहत किया जाएगा।

गौरतलब है कि इधर देश में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी के साथ बढ़ता जा रहा है। भारत में कोरोना वायरस का आंकड़ा 47 लाख के पार निकल गया है। पिछले 24 घंटे में इस दौरान कोरोना वायरस के 94,372 नए मामले सामने आए हैं और 1114 लोगों की मौत हुई है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश में कोरोना से कुल संक्रमित मरीजों की संख्या अब 47,54,357 तक पहुंच गई है। वहीं देश भर में कोरोना वायरस के 9,73,175 केस फिलहाल सक्रिय बने हुए हैं। हालांकि राहत की बात यह है कि कोरोना रिकवरी रेट में सुधार देखने को मिला है।

यह भी पढे: 26 जिलों में कोरोना विस्फोट, 739 नए केस आए, सात की मौत

पूरे देश में राजस्थान में गहलोत सरकार का कोरोना प्रबंधन सर्वश्रेष्ठ है. कांग्रेस प्रभारी अजय माकन ने इसका आकलन लगाया है. माकन की रिसर्च टीम ने चौंकाने वाले तथ्य जुटाए हैं.उनके अनुसार कोरोना मृत्यु दर राजस्थान में सबसे कम है. देश में कोरोना की  मृत्यु दर 1.69 फीसदी प्रति एक लाख व्यक्ति है तो वहीं दिल्ली में मृत्यु दर 2.27 फीसदी प्रति एक लाख व्यक्ति है. जबकि राजस्थान में कोरोना से मृत्यु दर 1.25 फीसदी प्रति एक लाख व्यक्ति है. इस प्रकार पूरे देश में सबसे कम मृत्यु दर राजस्थान में हैं. ऐसे में राजस्थान में कोरोना मृत्यु दर ऑल इंडिया से भी काफी कम है.

इस आकलन के अनुसार देश भर में संक्रमित दर 369 व्यक्ति प्रति एक लाख है जबकि दिल्ली में ये दर 1198 व्यक्ति प्रति एक लाख है और गोवा जैसे छोटे राज्य में 1550 व्यक्ति प्रति एक लाख है. इनके मुकाबले राजस्थान में संक्रमण दर केवल 139 व्यक्ति प्रति एक लाख है. इसी तरह देश में रिकवरी रेट 77.65 फीसदी है और राजस्थान में रिकवरी रेट 81.35 फीसदी है. इस प्रकार कोरोना  संक्रमण दर में भी राजस्थान सबसे ज्यादा सुरक्षित राज्य है.

यह भी पढे: राजस्थान: अब रविवार को भी बाजार खोलेने की अनुमति

इन आंकड़ों के आधार पर अजय माकन ने राजस्थान में गहलोत सरकार के सर्वश्रेष्ठ कोरोना प्रबंधन का दावा किया है. लेकिन इन सबके बावजूद माकन ने इस बात पर अफसोस जताया कि गहलोत सरकार अपनी इन सारी उपलब्धियों का पूरा प्रचार-प्रसार नहीं कर पा रही है. ऐसे में गहलोत को मीडिया प्रबंधन को चुस्त दुरुस्त करने के लिए मीडिया मैनेजमेंट की तत्काल जरूरत है.