Rajasthan Exclusive > राजस्थान > निगम चुनाव में टिकट की सिफारिश करने वाले नेताओं को जीत की गारंटी लेनी होगी

निगम चुनाव में टिकट की सिफारिश करने वाले नेताओं को जीत की गारंटी लेनी होगी

0
125

नगर निगम चुनान की घोषणा के साथ कांग्रेस में चुनावी कवायद शुरू हो गई है। चुनाव में टिकट वितरण केे फॉर्मूले और रणनीति तय करने के लिए आज प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने जयपुर शहर के प्रमुख नेताओं की बैठक बुलाई।

बैठक में कांग्रेस के प्रमुख नेताओं सहित प्रदेश कांग्रेस के निवर्तमान पदाधिकारियों को भी बुलाया गया। सूत्रों के अनुसार जयपुर के हैरिटेज और ग्रेटर नगर निगम चुनाव में टिकट वितरण में टिकट के लिए सफारिश करने वाले नेताओं और विधायकों को प्रत्याशी की जीत की गारंटी लेनी होगी। हालांकि टिकट वितरण और प्रत्याशी चयन में विधायकों की राय को अहमियत मिल सकती है।

यह भी पढे: गहलोत सरकार नया कृषि कानून लाने की तैयारी में

विधायकों की राय पर संभावित नामों के पैनल तैयार कर प्रदेश कांग्रेस को सौंपे जाएंगे, लेकिन सिफारिश करने वाले नेताओं और विधायकों को जीत का मंत्र भी देना होगा। दोनों नगर निगमों में कांग्रेस का परचम लहराने का जिम्मा विधायकों को दिया जाएगा। वहीं उम्मीदों पर खरा नहीं उतरने वाले प्रत्याशियों की हार का जिम्मा भी विधायकों पर रहेगा। इन संबंध में प्रदेश कांग्रेस की ओर से उनसे जवाब मांगा जाएगा।

सूत्रों की माने तो निगम चुनाव में नगर निगम चुनाव के लिए पर्यवेक्षकों की घोषणा हो सकती है। प्रभारी मंत्री के सहयोग के लिए इन पर्यवेक्षकों की घोषणा होगी। पर्यवेक्षक विधायकों और प्रमुख नेताओं की राय से संभावित नामों का पैनल तैयार करने का काम करेंगे।हालांकि 0 निगम चुनाव और पर्यवेक्षकों के नामों को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा के बीच रविवार को लंबी मंत्रणा हो चुकी.