Rajasthan Exclusive > राजस्थान > किसानों के साथ खड़े रहना ही असली राष्ट्रवाद : सचिन पायलट

किसानों के साथ खड़े रहना ही असली राष्ट्रवाद : सचिन पायलट

0
185

जयपुर: केंद्र के कृषि कानूनों के विरोध में रविवार को जयपुर के शहीद स्मारक पर आयोजित प्रदेश कांग्रेस के धरने को संबोधित करते हुए पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने केंद्र की मोदी सरकार को घमंडी और तानाशाही सरकार करार दिया। धरने में पायलट ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ(आरएसएस) पर निशाना साधते हुए कहा कि किसानों के साथ खड़े रहना ही असली राष्ट्रवाद है।

सचिन पायलट ने कहा कि मोदी सरकार आज तक ये नहीं बता पा रही कि इन कानूनों की मांग की किसने की। किस किसान संगठन ने इन कानूनों की मांग की है। आज देश की सौ फीसदी जनता किसानों से संबंध रखती है। पायलट ने कहा कि कौनसा किसान है जो न्यूनतम समर्थन मूल्य नहीं चाहता, लेकिन कानून लाने से पहले किसी से बात नहीं की गई। जो किसान अपनी मांगों के लिए धरने पर बैठा है उसे नक्सली बता रहे हैं। सच तो यह है कि घमंड और तानाशाही में केंद्र सरकार ने ये बिल पास कराए हैं।

सचिन पायलट ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार में एक भी मंत्री ऐसा नहीं है जो किसानों से संबंध रखता हो, पीयूष गोयल किसानों से बात करने जाते हैं, केवल किताबें पढ़ने से किसान नहीं बन पाते, इसके लिए किसानों से संवाद करना होता है और उनके बीच रहना पड़ता है।

सचिन पायलट ने कहा कि हम पर ये आरोप लगता है कि हम किसान आंदोलन के नाम पर राजनीति कर रहे हैं, लेकिन ये राजनीति नहीं है। अगर केंद्र सरकार किसानों के हित में इन कानूनों को वापस लेती है तो कोई गलत बात नहीं होगी,हम केंद्र सरकार को भी बधाई देंगे। पायलट ने कहा कि अगर किसानों के पक्ष में खड़े होना राजनीति है तो हम ये राजनीति करते रहेंगे। पायलट अपने समर्थक विधायकों के साथ धरने में पहुंचे थे।