Rajasthan Exclusive > राजस्थान > मुख्यमंत्री ने व्यक्त की पीड़ा, बोले- किस्तों में मकान लेने पर व्यक्ति बर्बाद हो जाता है

मुख्यमंत्री ने व्यक्त की पीड़ा, बोले- किस्तों में मकान लेने पर व्यक्ति बर्बाद हो जाता है

0
308

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हाउसिंग बोर्ड की परियोजनाओं का शुभारंभ करते हुए अपनी पीड़ा भी व्यक्त की. गहलोत कहा कि हाउसिंग बोर्ड ‘टाइम,क्वालिटी व विस्तार पर फोकस करें ताकि देश में पहचान बन सके।

बोर्ड के लिए यह सपना होना चाहिए। साथ ही उन्होंने कहा कि मुझे भी हाउसिंग बार्ड का मकान मिला था, जब मै सांसद था, लेकिन उसकी क्या दुर्गति थी, कोई कल्पना नही कर सकता। खूब पैसे लगाकर उसको रहने योग्य बनाया। उन्होंने कहा कि किस्तों में मकान लेने पर व्यक्ति बर्बाद हो जाता है’, मैंने भी खूब पैसे जमा कराए लेकिन फिर भी बकाया बता दिया। फिर बोर्ड के एक अकाउंटेंट ने आकर मुझे टेबल समझाई। उसमें बताया कि अगर आप ₹2000 की किस्त जमा कराते हो तो उसमें से ₹1800 तो ब्याज में ही चले जाते हैं केवल ₹200 ही मूल राशि जमा हो पाते है।

बीस हजार मकान बनाए, बिके नहीं, जांच का विषय, सीएस देखेंगे

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछ्ली सरकार में हाउसिंग बोर्ड को बंद करने की नौबत आ गई थी, लेकिन अब ऐसा नही है। गहलोत ने कहा कि पिछली सरकार में 20 हजार मकान बन गए और वह नहीं बिक सके । यह एक जांच का विषय है, इसे मुख्य सचिव देखेंगे । इससे पता लग सके कि कौन अधिकारी जिम्मेदार थे, जो केवल मकान बनाते गए, लेकिन बेच नही सके , जबकि हाउसिंग बोर्ड के मकान के लिए पहले रजिस्ट्रेशन करता है, यह अनफॉर्चूनेट है।