Rajasthan Exclusive > राजस्थान > राजस्थान में लॉकडाउन के बाद से उबरने लगा पर्यटन उद्योग

राजस्थान में लॉकडाउन के बाद से उबरने लगा पर्यटन उद्योग

0
166

इस बार स्वतंत्रता दिवस पर माउंट आबू में पर्यटन क्षेत्र के लिए खुश होने का एक और महत्वपूर्ण कारण था- दरसअल लंबे समय बाद माउंट आबू में पर्यटकों की तादाद पांच अंकों को पार कर गई थी। रेगिस्तानी राज्य राजस्थान के एकमात्र पर्वतीय स्थल माउंट आबू की पर्यटकों के बीच बहुत मांग है। बेहद खूबसूरत कुदरती दृश्यावली और आसपास बिखरे समृद्ध वास्तुशिल्प के अद्भुत नमूने- कुल मिलाकर माउंट आबू में सैर-सपाटे के शौकीन लोगों के लिए बहुत कुछ है। हालांकि इन गर्मियों में कोविड-19 के प्रकोप के कारण अधिकांश पर्यटकों ने माउंट आबू से दूरी बनाए रखी, लेकिन मॉनसून के आगमन के साथ ही यहां पर्यटकों की आवाजाही बढ़ने लगी और आबू की हरी-भरी वादियां पर्यटकों की चहलकदमी से एक बार फिर गुलजार हो उठीं। जाहिर है कि यह बदलाव न्यू नॉर्मल की ओर लौटने का संकेत देता है।

राजस्थान में आने वाले पर्यटकों की संख्या में इधर लगातार वृद्धि हुई है, हालांकि विदेशी पर्यटकों का आगमन अब भी कम है, लेकिन स्थानीय पर्यटकों का उल्लास बढ़ रहा है। माउंट आबू से आने वाले आंकड़े यही स्थिति दर्शाते हैं। इसी तरह का ट्रेंड उदयपुर शहर को लेकर भी देखा गया है, जहां पर्यटक सुरक्षा दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए छोटी और सुरक्षित छुट्टियों का मजा ले रहे हैं। स्टैंडर्ड ओपरेटिंग प्रोसीजर्स और सुरक्षा संबंधी अन्य उपायों के कारण ऐसा संभव हुआ है, जिससे पर्यटकों के बीच आत्मविश्वास विकसित करने में मदद मिली है।

पर्यटन विभाग, राजस्थान के प्रमुख सचिव आलोक गुप्ता कहते हैं, ‘‘गर्मियों के पूरे सीजन में दूर रहने के बाद सैलानी अब फिर से बाहर निकलने लगे हैं, वे सैर-सपाटे के लिए उत्सुक नजर आते हैं। यह खुशी की बात है कि स्थानीय पर्यटक बड़ी संख्या में लौट रहे हैं। वर्तमान में हम पर्यटन के क्षेत्र में अनलॉक के मद्देनजर पर्यटकों की सुरक्षा को सर्वाधिक प्राथमिकता दे रहे हैं।‘‘

स्टैंडर्ड परेटिंग प्रोसीजर्स और सुरक्षा संबंधी दिशा-निर्देश सार्वजनिक स्थानों, स्मारकों और ठहरने की सुविधाओं में सामाजिक दूरी और अन्य स्वच्छता प्रथाओं को सुनिश्चित करते हैं। कोविड के उपरांत उपजे हालात को देखते हुए इन दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन किया गया और यही कारण है कि पर्यटकों की बढ़ती संख्या के बावजूद, संक्रमण के फैलाव में बढ़ोतरी नहीं हुई है। राजस्थान के लिए पर्यटन महत्वपूर्ण क्षेत्र है और राज्य सरकार इस सैक्टर के पुनरुद्धार के भरपूर प्रयास कर रही है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अधिकारियों को सार्वजनिक स्वास्थ्य को अन्य सभी पहलुओं से आगे रखने के निर्देश दिए हैं।

सार्वजनिक स्वास्थ्य और छुट्टियों की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए राज्य पर्यटन विभाग कम अवधि के सुरक्षित प्रवास को बढ़ावा दे रहा है। कोविड सुरक्षा के मुद्दे पर होटल, रेस्तरां और अन्य संबंधित विभागों जैसे हितधारकों को पहले ही अलर्ट कर दिया गया था। राज्य के निवासियों द्वारा भी एहतियाती उपायों का सख्ती से पालन किया जा रहा है, जिससे सरकार को सभी के लिए एक सुरक्षित और स्वस्थ वातावरण प्रदान करने में मदद मिल रही है। इसी माहौल में भारी तादाद में राज्य में लौट रहे पर्यटकों ने राजस्थान के आतिथ्य के साथ-साथ यहां के सुरक्षात्मक माहौल के लिए भी जोरदार स्वीकृति दी है।