Rajasthan Exclusive > राजस्थान > आदिवासियों के प्रदर्शन की बढ़ती आग, 100 से अधिक घरों में तोड़फोड़ और लूटपाट

आदिवासियों के प्रदर्शन की बढ़ती आग, 100 से अधिक घरों में तोड़फोड़ और लूटपाट

0
243

जयपुर। प्रदेश के डूंगरपुर जिले की कांकरी डूंगरी से शुरू हुए आदिवासियों के प्रदर्शन की आग दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है. आज तीसरे दिन भी आंदोलन थमने का नाम ही नहीं ले रही है. और उदयपुर-अहमदाबाद हाइवे पर लगातार तनाव का माहौल बना हुआ है. इस दौरान अब उपद्रवियों ने खेरवाड़ा कस्बे की श्रीनाथ कॉलोनी में जमकर तांडव मचाया है. उपद्रवी यहां पर घरों में घुसकर लूटपाट और तोड़फोड़ की है.

उपद्रवियों ने यहां पर 100 से ज्यादा घरों में लूटपाट और तोड़फोड़ की है. इस पूरे मामले पर पुलिस और प्रशासन मूकदर्शक बना हुआ है. कस्बे के हालात नियंत्रण से बाहर नजर आ रहे है. कस्बे के वासी खौफजदा है.

उपद्रव और हिंसा पर नियंत्रण के लिए प्रदेश के तीन वरिष्ठ पुलिस अधिकारी डूंगरपुर जा रहे है. डीजी एमएल लाठर, एडीजी दिनेश एमएन और पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव डूंगरपुर जा रहे है. थोड़ी देर में राज्य सरकार के हैलीकॉप्टर से उदयपुर रवाना होंगे.

यह भी पढे: 40 घंटे से हाईवे के 10 किमी इलाके पर प्रदर्शनकारियों का कब्जा, दुकान-होटलों में लूटपाट

खैरवाड़ा कस्बे में स्थिति बेहद तनाव आंदोलनकारी तीसरे दिन भी कस्बे के विभिन्न इलाकों में जमकर आगजनी और लूटपाट की. पुलिस-प्रशासन एक बार फिर से आंदोलनकारियों को पीछे धकेलने में जुटा है. पुलिस द्वारा फायरिंग किए जाने की सूचना मिली है. जिला कलेक्टर चेतन देवड़ा मौके पर पहुंचे है. फिलहाल खैरवाड़ा कस्बे में स्थिति बेहद तनावपूर्ण हो गई है.

अभ्यर्थियों और प्रशासन के बीच वार्ता

आज जनजाति अभ्यर्थियों और प्रशासन के बीच वार्ता हुई. यह वार्ता में टीएडी मंत्री अर्जुन बामणिया की मौजूदगी में हुई. हालांकि यह वार्ता किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंच पाई, लेकिन सभी जनजाति नेताओं ने एक स्वर में शांति कायम करने की मांग की है. आंदोलनकारियों से शांति कायम करने की मांग की गई है. यह बैठक में सीडब्ल्यूसी मेंबर रघुवीर मीणा के निवास पर हुई. पूर्व सांसद ताराचंद भगोरा, बिटीपी विधायक रामप्रसाद डिंडोर और विधायक राजकुमार रोत बैठक में मौजूद रहे.

यह भी पढे: हाईवे पर तीसरे दिन शांति लेकिन तनाव बरकरार, इंटरनेट सेवाएं बंद

दिन भर शांति, शाम ढलते ही रार

हाइवे पर तीन दिन से चल रहे उपद्रव के बीच शनिवार को सुबह से माहौल शांत नजर आ रहा था। सुबह प्रदर्शनकारी बौखला-भुवाली क्षेत्र में करीब 3 किमी हाइवे पर जमे हुए थे। शेष मार्ग पर पुलिस जले हुए वाहनों को सडक़ से हटवाने की कार्रवाई में जुटी रही। वहीं आईजी विनीता ठाकुर ने होटलों, दुकानों में हुए नुकसान का जायजा लेकर पुलिस अधिकारियों को मुकदमे दर्ज करने के निर्देश दिए।

व्यापारियों ने किया थाने का घेराव

इससे पूर्व शुक्रवार को खेरवाड़ा कस्बे में वाहन जलाने और दुकानों में तोडफ़ोड़ करने के विरोध में शनिवार को व्यापारियों ने प्रतिष्ठान बंद कर खेरवाड़ा थाने का घेराव किया। व्यापारियों ने पुलिस पर तमाशबीन बने रहने के आरोप लगाए। वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने समझाइश कर सख्त कार्रवाई का आश्वासन देते हुए व्यापारियों को शांत किया।