Rajasthan Exclusive > राजस्थान > राजस्थान के बीकानेर से ISI के दो जासूस गिरफ्तार, आर्मी एरिया में करते थे ठेकेदार का काम

राजस्थान के बीकानेर से ISI के दो जासूस गिरफ्तार, आर्मी एरिया में करते थे ठेकेदार का काम

0
979

पाकिस्तान के लिए जासूसी करने के आरोप में बीकानेर और झुंझुनू से दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. यह दोनों पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए काम करते थे. इन दोनों आरोपियों को पकड़ने के लिए आर्मी, यूपी एटीएस और राजस्थान पुलिस द्वारा ज्वाइंट ओपरेशन चलाया गया, इस ‘ओपरेशन डेजर्ट चेज’ नाम दिया गया था.

सूत्रो के मुताबिक पकड़े गए दो युवकों के नाम विकास और चिमन लाल है. अब तक की जांच में पता चला है कि झुंझुनू जिले के रहने वाले विकास कुमार ओरबेट यानी ओर्डर ओफ बेटल, कंपोजिशन एंड ओर्डर ओफ मिलिट्री फाइटिंग फोर्मेशन, गोला-बारूद की फोटो और उससे जुड़ी जानकारी पाकिस्तान पहुंचाता था. जो बीकानेर में सेना की महाजन फील्ड फायरिंग रेंज में पानी के टैंकर की सप्लाई करने वाले चिमन लाल से जानकारी प्राप्त करता था. इसी दौरान वह वहां की तस्वीरें लेता था और पाकिस्तान में अपने हैंडलर को देता था. जासूसी के एवज में विकास को पैसा मिलता था. किसी को शक न हो इसके लिए वह अपने भाइ के अकाउंट में पैसा मंगाता था. हेमंत से भी पूरे मामले में पूछताछ की जा रही है. गौरतलब है कि विकास के पिता सेना में रह चुके हैं. जो अब रिटायर्ड हैं.

अगस्ट 2019 में लखनऊ की मिलिट्री इंटेलिजेंस टीम को गंगानगर के पास एक जासूसी एजेंट के बारे में जानकारी मिली थी. जो पाकिस्तान तक सेना की जानकारी दे रहा था. व्यक्ति की पहचान विकास कुमार के रूप में हुई. जो गंगानगर के पास एक सेना के गोला बारूद डिपो के आसपास ट्रेस किया गया. जिसके बारे में जनवरी 2020 में एटीएस को सूचित किया गया.

पूछताछ में विकास कुमार ने बताया कि उसे फेसबुक पर पाकिस्तान इंटेलिजेंस अफसर अनुष्का चोपड़ा से मार्च 2019 में फ्रेंड रिकवेस्ट मिली थी. दोस्ती के बाद दोनों ने अपने वॉट्सएप नंबर एक-दूसरे से साझा किए थे. दोनों में चेट और वीडियो कॉल भी होने लगी. महिला द्वारा उसे बताया गया कि वो मुंबई में कैंटीन स्टोर डिपार्टमेन्ट (सीएसडी) मुख्यालय के साथ काम कर रही है. उसे कई वॉट्सएप ग्रुप ज्वाइन कराए गए. जिसमें वो पहले से जुड़ी थी. इसके बाद महिला ने विकास को अपने बोस अमित कुमार सिंह (हैंडलर) से मिलवाया. जो एक भारतीय वोट्सएप नंबर का इस्तमाल कर रहा था. हैंडलर ने विकास को पैंसो के बदले सैना की सूचना देने के लिए मना लिया.

हैंडलर ने भेजे 75 हजार रूपये

विकास ने पाकिस्तान में अपने हैंडलर से करीब 75 हजार रूपये प्राप्त किए. जो उनके भाई हेमंत कुमार के खातों में आए.