Rajasthan Exclusive > देश - विदेश > वैश्विक महामंदी के बीच अमेरिका ने दिया झटका, H1-B वीजा पर रोक

वैश्विक महामंदी के बीच अमेरिका ने दिया झटका, H1-B वीजा पर रोक

0
197

कोरोना महामारी से निपटने के लिए लगभग विश्व के तमाम देशों ने तालाबंदी का सहारा लिया था. लेकिन कोरोना की बैठी पैठ की वजह से कई देशों को तालाबंदी खत्म करना पड़ा. लेकिन तालाबंदी की वजह से बड़ी संख्या में लोगों को नौकरी से हाथ धोना पड़ा इस बीच अमेरिका ने एक और झटका दिया है. अमेरिका ने इस साल के अंत तक एस-1बी वीजा पर रोक लगा दी है. माना जा रहा है इस वीजा का सबसे ज्यादा फायदा भारतीय आईटी पेशा से जुड़े लोगों को मिलता था.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने लोकप्रिय एच-1बी वीजा पर इस साल के अंत तक रोक लगाने की आधिकारिक घोषणा की है. उन्होंने कहा कि ये फैसला इसलिए लिया गया ताकि अमेरिकियों को इससे फायदा पहुंचे और जिन्होंने इस आर्थिक मंदी के हालात में नौकरी गंवा दी है उन्हें आसानी से नौकरी मिल सके. माना जा रहा है ट्रंप के इस फैसले से 5 लाख से ज्यादा अमेरिकियों को नौकरी मिल जाएगी.

अमेरिकी राष्ट्रपित के इस घोषणा के बाद गूगल सीईओ सुंदर पिचाई ने कहा इससे निराश हूं. क्योंकि अमेरिका को इस मुकाम पर पहुंचाने में अप्रवासियों का बहुत बड़ा योगदान है हौ. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि सरकार के इस निर्णय से निराश हैं और अप्रवासियों के साथ खड़े रहेंगे.

इससे पहले भी राष्ट्रपति ट्रंप नए ग्रीन कार्ड जारी करने पर भी पाबंदी लगा दिया था जो पहले 60 दिनों तक लागू था लेकिन इसे भी बढ़ाकर साल के अंत तक के लिए लागू कर दिया गया है. गौरतलब है कि नवंबर में होने जा रहे राष्ट्रपति चुनाव से पहले वीजा से जुड़े इस मामले पर आधिकारिक घोषणा जारी कर ट्रंप प्रसाशन ने विभिन्न संगठनों, सांसदों और मानवाधिकार निकायों के विरोध को नजरअंदाज कर यह फैसला लिया है.